पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंदौली में सुस्त हुई खाकी, बढ़ रहा अपराध का ग्राफ:तीन बड़ी घटनाओं में पुलिस के हाथ खाली, अपराधियों के हौसले बुलंद

चंदौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली जिले में एक माह के अंदर हुई तीन बड़ी घटनाओं ने पुलिस महकमे के अफसरों की कार्यशैली पर प्रश्नचिन्ह लगा दिया है। लेकिन अफसर हर बार मामले की जांच करने और टीम ग‌ठित करने की बात करके जिम्मेदारियों से मुह मोड़ ले रहे हैं। लेकिन जिले में अचानक बढ़े आपराधिक घटनाओं के ग्राफ से लोग काफी भयभीत हैं। व्यापारी और नागिरिकों में पुलिस के प्रति नाकारात्मक छवि बनती जा रही है।

सैयदराजा कस्बा में एसबीआई बैंक शाखा के बाहर छह जून को एक पेट्रोल पम्प के कर्मी से 13.30 लाख की दिनदहाड़े लूट हुई। इस मामले का अभी तक कोई खुलासा नहीं हुआ है। जबकि पुलिस कप्तान ने मामले की जांच के लिए पांच टीमों का गठन किया है। वहीं एक सप्ताह पूर्व में इलिया थाना क्षेत्र में आभूषण व्यापारी को गोली मारा गया।बदमाशों का निशाना चूकने से व्यापारी केवल जख्मी हुआ। इस मामले में भी अभी तक पुलिस के पास कोई सुराग नहीं है।

फरियाद लेकर थाने में पहुंचे लोग।
फरियाद लेकर थाने में पहुंचे लोग।

जिले में बढ़ रहा अपराध का ग्राफ
शुक्रवार को धानापुर थानाक्षेत्र के विझवल गांव के समीप बदमाशों ने सोनहुली के धर्मेंद्र यादव उर्फ रिंकू को पिछे से गोली मार दी। घायल की हालत नाजूक होने पर उसे वाराणसी के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया। तीनों मामलों में पुलिस प्रशासन के हाथ अभी तक खाली है। इस मामले में अपर पुलिस अधीक्षक चिरंजीवी मुखर्जी ने बताया कि पुलिस मामलों की जांच में जुटी है। जल्द ही सभी घटनाओं का खुलासा होगा।

सफेद बाइक लूटेरों की पहली पसंद
सैयदराजा, इलिया और धानापुर में हुई आपराधिक घटना में लूटरों के पास सफेद बाइक का प्रयोग किया। घटना को अंजाम देने के बाद लूटेरे पुलिस को चकमा देकर फरार हो गए। बाइक का रंग सफेद होने के चलते पुलिस को लोग आसानी से भ्रमित कर दिया। अमूमन सामान्य नागरिकों के पास ज्यादा सफेद बाइक होती है। इसलिए पुलिस लूटेरों की पहचान करने में असफल रही।