पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत सचिव ने नहीं कराया पंचायत भवन का निर्माण:डीपीआरओ ने किया निलंबित, दो ग्राम सभाओं के लिए हुआ था धन अवमुक्त

चंदौली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली जिले के चहनिया विकास खंड में तैनात ग्राम पंचायत अधिकारी(पंचायत सचिव) केशरी कुमार यादव को लापरवाही के आरोप में डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे ने निलंबित कर दिया है। पंचायत सचिव ने दो ग्राम सभाओं के लिए धन अवमुक्त होने के बाद भी पंचायत भवन का निर्माण नहीं कराया। जबकि सामुदायिक शौचालय के रख रखाव में खामियां मिली थी। उपनिदेशक(पंचायत) के निरीक्षण के बाद सचिव के कृत्यों की पोल खुली।

चहनिया ब्लाक में तैनात केशरी कुमार यादव के पास भुपौली और ओरवा सहित अन्य गांवों का चार्ज है। पिछले दिनों वाराणसी उपनिदेशक(पंचायत) के साथ डीपीआरओ ब्रह्मचारी दुबे ने ओरवा और भुपौली के चकिया मौजा का निरीक्षण किया। जहां अफसरों ने दोनों गांव के लिए धन अवमुक्त होने के बाद भी पंचायत भवन का निर्माण नहीं हुआ देख कड़ी आपत्ति जताई।

गंदगी का आलम देख सचिव को जमकर फटकारा
पंचायत सचिव की कार्यशैली पर भी प्रश्नचिन्ह लगाया। जबकि गांव के सामुदायिक शौचालय में गंदगी का आलम देख सचिव को जमकर फटकारा। इसके बाद डीपीआरओ ने उपनिदेशक के निर्देश पर सचिव को निलंबित कर दिया। उन्होंने बताया कि जिम्मेदारियों का सही ढंग से निवर्हन नहीं करने और शासन के मंशा के अनुरुप कार्य करने में पंचायत ने लापरवाही किया है। इस‌लिए उन्हे निलंबित किया गया है।

एडीपीआरओ करेंगे प्रकरण की जांच
पंचायतीराज अधिकारी ब्रह्मचारी दुबे ने निलंबित सचिव के प्रकरण की जांच के लिए एडीपीआरओं को जिम्मेदारी दी है। उन्होंने पूरे प्रकरण की जांच करके एक पखवारे के अंदर रिपोर्ट प्रस्तुत करने का निर्देश दिया है। बताया कि जांच रिपोर्ट मिलने के बाद विभागीय कार्रवाई के लिए उच्चाधिकारियों से संस्तुति की जाएगी।

खबरें और भी हैं...