पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

चंदौली में निशा के लिए भूख हड़ताल पर बैठे संगठन:डॉक्टरों ने सभी का बीपी और शुगर लेवल किया चेक, 50 घंटे तक चलेगी हड़ताल

चंदौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चंदौली में निशा यादव की मौत के मामले में दोषी पुलिसकर्मियों को सजा देने की मांग को लेकर विभिन्न संगठन के लोग जिला मुख्यालय में भूख हड़ताल पर बैठे हैं। रविवार को हड़ताल पर बैठे लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई। नायाब तहसीलदार अवनीश कुमार सिंह, चिकित्सक डॉ दिवेश कुमार पांडेय, टेक्नीशियन मो इमरान खान और स्वास्थ्य कर्मी लक्ष्मण प्रसाद मौके पर पहुंचे। चिकित्सक ने सभी के स्वास्थ्य की जांच की। सभी की हालत सामान्य होने की जानकारी के बाद अफसरों ने राहत की सांस ली।

शनिवार से विकास भवन के पास विभिन्न संगठनों के 6 लोग 50 घंटे की भूख हड़ताल पर बैठे हैं। इसमें भाकपा(माले) केंद्रीय कमेटी के सदस्य तथा प्रदेश सचिव कामरेड सुधाकर यादव, भाकियू मण्डल प्रवक्ता मणिदेव चतुर्वेदी, अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मजदूर सभा के जिला उपाध्यक्ष विजय राम, भाकियू के मंडल अध्यक्ष जितेंद्र प्रताप तिवारी, भाकियू के सतीश सिंह चौहान और रंकज सिंह शामिल हैं।

परिवार के लोग भी मौके पर पहुंचे

सभी लोग इंस्पेक्टर उदय प्रताप की गिरफ्तारी, सैयदराजा के विधायक सुशील सिंह की मामले में संलिप्तता की जांच, मृतका के पिता कन्हैया यादव के ऊपर से गुंडा एक्ट और जिला बदर की कार्रवाई वापस लिए जाने की मांग की है। हत्याकांड की न्यायिक जांच, पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़े हैं।

रविवार को मृतका निशा के पिता कन्हैया यादव, माता चंदा देवी और भाई विजय यादव मनराजपुर गांव के लोगों के साथ विकास भवन के पास धरना स्थल पहुंचे। लोगों में मृतका को न्याय देने और दोषियों के खिलाफ सख्त करवाई करने की मांग को बुलंद किया।

खबरें और भी हैं...