पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भूख हड़ताल पर बैठे लोगों के स्वास्थ्य की जांच:चंदौली में आंदोलनकारियों ने कहा- नहीं ग्रहण करेंगे अन्न, अफसरों के माथे पर चिंता की लकीरें

चंदौलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे भीम आर्मी के कार्यकर्ता। - Money Bhaskar
अनिश्चित कालीन हड़ताल पर बैठे भीम आर्मी के कार्यकर्ता।

चंदौली जिले की मनराजपुर की निशा यादव उर्फ गुड़िया की मौत के मामले में दोषी पुलिसकर्मियों को सजा देने की मांग को लेकर विभिन्न संगठन चार दिनों से भूख हड़ताल पर बैठे हैं। मंगलवार को चिकित्सकों की टीम ने भूख हड़ताल पर बैठे तीन लोगों के स्वास्थ्य की जांच की। लेकिन आंदोलन में शामिल लोगों ने ऐलान किया कि न्याय की लड़ाई में लोग अन्न नहीं ग्रहण करेंगे। चाहे इसके लिए उन्हें कोई कीमत चुकानी पड़े।

आपको बता दें कि विकास भवन के पास विभिन्न संगठनों के तीन लोग 50 घंटे की भूख हड़ताल पर बैठे हैं। इसमें इंकलाबी नौजवान सभा के जिला सचिव कामरेड ठाकुर प्रसाद, अखिल भारतीय किसान महासभा के जिला सह सचिव संजय यादव व भारतीय किसान यूनियन (अ.) के तहसील अध्यक्ष छोटे लाल चौहान (मोछू) शामिल हैं। आंदोलनकारी आरोपी इंस्पेक्टर उदय प्रताप की गिरफ्तारी, सैयदराजा के विधायक सुशील सिंह की मामले में संलिप्तता की जांच, मृतका के पिता कन्हैया यादव के ऊपर से गुंडा एक्ट व जिला बदर की कार्रवाई वापस लिए जाने, हत्याकांड की न्यायिक जांच, पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा और परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने की मांग पर अड़े हैं। मंगलवार को चिकित्सक डॉ. दिवेश कुमार पांडेय, टेक्नीशियन मो. इमरान खान ने लोगों के स्वास्थ्य की जांच की।

भूख हड़ताल पर बैठे लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई।
भूख हड़ताल पर बैठे लोगों के स्वास्थ्य की जांच की गई।

भीम आर्मी का अनिश्चित कालीन धरना चालू

मनराजपुर की घटना को लेकर विकास भवन के पास भीम आर्मी के द्वारा अनिश्चितकालीन धरना दिया जा रहा है। धरने का संचालन करते हुए भीम आर्मी के पूर्व जिलाध्यक्ष शैलेश कुमार ने कहा कि आंदोलन जारी रहेगा। मृतका के परिजनों को न्याय तथा दोषी पुलिसकर्मियों की गिरफ्तारी संगठन की मुख्य मांग है। परंतु जिले के अब तक मामले को लेकर उदासीन बने हुए हैं।

खबरें और भी हैं...