पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सिकंदराबाद में शादाब हत्याकांड के आरोपियों पर शिकंजा:पुलिस ने 3 शूटरों पर घोषित किए 25-25 हजार के इनाम, 5 शूटरों ने चलाईं थीं 31 गोलियां

सिकंदराबादएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सिकंदराबाद के गुलावठी में झोलाछाप शादाब हत्याकांड में फरार चल रहे 3 शूटर अभी तक पुलिस के हत्थे नहीं चढ़ सके हैं। शूटरों पर वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। हत्याकांड में 5 शूटरों ने 31 गोलियां मारकर शादाब की हत्या कर दी थी।

पुलिस हत्यारों को पकड़ने का कर रही प्रयास

कोतवाली प्रभारी अजय कुमार शर्मा ने बताया कि दिल्ली के रहने वाले शूटर कासिफ एवं हसीन और हापुड़ के जिले ग्राम कुराना निवासी अशरफी उर्फ सरफराज पर एसएसपी ने 25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। ये तीनों शादाब हत्याकांड में फरार चल रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस लगातार प्रयास कर रही है लेकिन अभी तक ये पकड़े नहीं जा सके हैं।

8 मई को की गई थी हत्या

कोतवाली प्रभारी ​​​​​ने बताया कि ग्राम कुराना निवासी डॉ.शादाब की गत 8 मई को जीटी रोड पर पुराना बस स्टैंड के निकट अतरकौर मार्केट में ताबड़तोड़ गोलियां बरसाकर हत्या कर दी गई थी। मृतक के भाई मोहम्मद अबरार पुत्र मुस्लिम निवासी ग्राम कुराना ने गुलावठी थाने में घटना की रिपोर्ट दर्ज कराई है। पुलिस ने हत्याकांड के शामिल दो शूटर समेत तीन लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। इसके अलावा हत्याकांड में हथियार सप्लाई करने वाले दो सप्लायर को भी गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। अभी भी इस मामले में तीन आरोपी फरार चल रहे हैं।

इस रंजिश के कारण हुई थी हत्या

वारदात के पीछे आपसी रंजिश की बात सामने आई थी। शादाब झोलाछाप था। वह चर्म रोग का इलाज करता था। गांव के एक व्यक्ति इरफान की हत्या हुई थी। इस मामले में शादाब का सगा भाई रागिब जेल में है। ऐसी आशंका जताई जा रही है कि इसी हत्या के चलते इस तरह की वारदात को अंजाम दिया गया था। माना जा रहा है कि बदले की भावना से यह हत्या की गई थी। पुलिस की चार टीमें मामले के खुलासे के लिए जुटी हैं।

लूट के आरोपी पर भी इनाम घोषित

मोहल्ला पीरखां निवासी लूट के एक आरोपी पर आइजी ने 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया है। कोतवाली प्रभारी इंस्पेक्टर अजय कुमार शर्मा ने बताया कि मोनू उर्फ मईनुद्दीन ने हापुड़ बाबूगढ़ थाना क्षेत्र में लूट की वारदात को अंजाम दिया था। इस लूटकांड में मोनू फरार चल रहा है। मोनू पर आइजी द्वारा अब 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। उन्होंने बताया कि फरार मोनू की गिरफ्तारी के लिए गुलावठी पुलिस भी प्रयासरत है।