पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बुलंदशहर का बंदी ग्रेटर नोएडा की कोर्ट से फरार:धोखाधड़ी के आरोप में बंद था, 2 टीमें तलाश में जुटीं

बुलंदशहर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बुलंदशहर से ग्रेटर नोएडा स्थित जिला न्यायालय में लाया गया था। - Money Bhaskar
बुलंदशहर से ग्रेटर नोएडा स्थित जिला न्यायालय में लाया गया था।

जिला न्यायालय में पेशी के लिए बुलंदशहर से लाया गया बंदी पुलिस कस्टडी से फरार हो गया। पुलिस ने इस मामले में बुलंदशहर से आए पुलिसकर्मियों की लापरवाही की रिपोर्ट एसएसपी बुलंदशहर को भेज दी है।

पुलिस ने अपराधी की गिरफ्तारी की लिए दो टीमें बनाकर अपराधी को जल्द गिरफ्तार करने का दावा कर रही है। फरार अपराधी पर दनकौर कोतवाली में धोखाधड़ी का मामला दर्ज था। जिसकी तारीख में सोमवार को उसे बुलंदशहर से ग्रेटर नोएडा स्थित जिला न्यायालय में लाया गया था।

धोखाधड़ी के आरोप है फरार अपराधी पर

जिला न्यायालय परिसर में उस वक्त कोहराम मच गया, जब बुलंदशहर से पुलिस की टीम चार अपराधियों को पेशी पर लाई जिसमें एक अपराधी मौका देख कर कोर्ट परिसर से ही फरार हो गया। डीसीपी सेंट्रल नोएडा ने बताया कि अपराधी शिव कुमार निवासी छांयसा फरीदाबाद के खिलाफ दनकौर में धोखाधड़ी का एक मामला दर्ज था, जिसमें उसे आज बुलंदशहर जेल से ग्रेटर नोएडा के सूरजपुर में स्थित सीजीएम फर्स्ट के कोर्ट नंबर 13 में लाया गया, जहां से वह मौका देखकर पुलिस कस्टडी से फरार हो गया।

चार अपराधी को लेकर आए थे

बुलंदशहर जिले की पुलिस जिसमें हेड कांस्टेबल शांतनु त्यागी, कांस्टेबल वीरपाल सिंह और विपिन कुमार अपने साथ चार अपराधियों को लेकर आए थे। जिसमें शिवकुमार कोर्ट परिसर से उनकी कस्टडी से फरार होने में सफल हो गया । पुलिस ने उसे घंटों तलाशने की कोशिश की लेकिन पुलिस के हाथों निराशा लगी और उच्च अधिकारियों को इसकी जानकारी दी गई।

बुलंदशहर एसपी से की शिकायत

डीसीपी सेंट्रल नोएडा ने बताया कि अपराधी के फरार होने की जानकारी बुलंदशहर एसएसपी को दी गई है व बुलंदशहर से आए पुलिस कर्मचारियों की लापरवाही के बारे में बुलंदशहर एसएसपी को अवगत करा दिया गया है और दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई के लिए रिपोर्ट पेश कर दी गई है। साथ ही फरार बंदी की गिरफ़्तारी के लिए टीम बना दी गयी।

खबरें और भी हैं...