पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

न्याय के लिए भटक रही तीन तलाक पीड़िता:महीने भर बाद चांदपुर पहुंचकर सीओ से की न्याय की मांग, कहा- कार की मांग को लेकर करते थे मारपीट

चांदपुर (बिजनौर)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

चांदपुर में तीन तलाक की पीड़िता ने गुरुवार को पुलिस क्षेत्राधिकारी चांदपुर से आरोपियों को पकड़कर जेल भेजने की मांग की है। पीड़िता का आरोप है कि निकाह को अभी 6 माह हुए थे। पति दहेज के लिए मारपीट करता था। एक माह पहले पति ने पत्नी को तीन तलाक दे दिया। पीड़िता ने पुलिस से न्याय की मांग की है।

6 माह पहले हुआ था निकाह
मामला बिजनौर जिले के चांदपुर थाना क्षेत्र का है। गुरुवार को तीन तलाक का मामला सामने आया। पीड़िता इंसाफ पाने के लिए दर-दर की ठोकरें खा रही है। ग्राम हलपुरा निवासी सानिया पुत्री अनवार का आरोप है कि उनका निकाह 6 महीने पहले आफताब आलम पुत्र मोहम्मद समी निवासी मोहल्ला कटरा थाना मंडी धनौरा के साथ हुई थी।

निकाह के बाद से ही ससुराल वाले दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे। इतना ही नहीं, पति व ससुरालीजनों पर मारपीट व गाली गलौज करने का भी आरोप है। बताया कि पति ने दहेज में कार की मांग की। कार न दे पाने की स्थिति में पति आफताब आलम ने अपनी मां, बहन व नंदोई के कहने पर तीन तलाक बोल दिया। आरोपी पति ने 25 मई को तलाक दिया था।

दो दिन में पुलिस ने आरोपियों को छोड़ा था
पीड़िता ने थाने में शिकायत की थी, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। किसी तरह पीड़िता 16 जून 2022 को थाना चांदपुर पहुंची थी। पीड़िता ने मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने पति आफताब आलम व नंदोई तनजीम को 20 जून 2022 को गिरफ्तार किया और दो दिन में ही बिना कार्रवाई के छोड़ दिया। आरोप है कि पुलिस बस कार्रवाई का आश्वासन देती रही, लेकिन सुनवाई नहीं हुई। पीड़िता ने पुलिस क्षेत्राधिकारी चांदपुर से न्याय की मांग की है। पुलिस क्षेत्राधिकारी शुभ सूचित ने कहा कि मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...