पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

औराई में अमृत महोत्सव के तहत हुई कार्यक्रम:केशव प्रसाद मिश्र राजकीय महिला महाविद्यालय में 1857 की क्रांति में महिलाओं के योगदान पर हुई चर्चा

औराई्2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केशव प्रसाद मिश्र राजकीय महिला महाविद्यालय औराई में आजादी का अमृत महोत्सव, मिशन शक्ति विशेष अभियान एवं राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के अंतर्गत "1857 की क्रांति में महिलाओं का योगदान" विषय पर ऑनलाइन व्याख्यान का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग दर्जनों छात्राओं ने सफलतापूर्वक प्रतिभाग किया।

व्याख्यान में मुख्य वक्ता राजकीय बालिका महाविद्यालय सेवापुरी वाराणसी के इतिहास विभागाध्यक्ष व एसोसिएट प्रोफ़ेसर डॉ० सत्यनारायण वर्मा थे।राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम अधिकारी अनुज कुमार सिंह ने विषय प्रतिपादन करते हुए कहा कि आजादी का अमृत महोत्सव भारत की स्वतंत्रता के 75 वर्ष बीतने पर 12 मार्च 2021 से प्रारंभ होकर 15 अगस्त 2023 तक स्वतंत्रता के 75 सप्ताह मनाने की उच्च शिक्षा विभाग की योजना है, जिसके अंतर्गत आज हम सभी 10 मई के विशेष दिवस को 1857 की क्रांति के प्रारंभ दिवस के रूप में याद करते हैं।

इस क्रांति में महिलाओं विशेषकर रानी लक्ष्मीबाई, झलकारी बाई, बेगम हजरत महल, बेगम जीनत महल, रानी नेतम्मा, अवंती बाई लोधी, ऊदा देवी आदि का विशेष योगदान था। मुख्य वक्ता इतिहास विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ सत्यनारायण वर्मा ने आज के दिवस की प्रासंगिकता एवं 1857 की क्रांति में महिला सेनानियों के साहसिक योगदान पर विस्तारपूर्वक प्रकाश डाला।

उन्होंने शासन के अमृत महोत्सव मनाने की योजना पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह के उत्सव मनाने से आज की युवा पीढ़ी भी उन अमर सेनानियों के बारे में जानकारी प्राप्त करेगी, जिन्होंने स्वतंत्रता संग्राम में अपना सर्वस्व न्यौछावर कर दिया, तब जाकर हम इस आजादी रूपी अमृत का पान कर रहे हैं। इसको उत्सव के रूप में मना रहे हैं।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ वृजकिशोर त्रिपाठी ने आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत विशेष दिवसों के आयोजन के अंतर्गत वीर सेनानियों को याद करते हुए अपनी शुभकामना दी। आज के दिन के महत्व पर प्रकाश डाला। इस अवसर पर महाविद्यालय के समस्त प्राध्यापक और कर्मचारीगण उपस्थित रहे।

खबरें और भी हैं...