पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रुधौली सीएचसी में महिला चिकित्सक की नियुक्ति नहींं:महिलाएं प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराने को मजबूर, ग्रामीणों में आक्रोश

रुधौली, बस्तीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रुधौली स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर कई माह से महिला चिकित्सक के न होने से मरीजों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। इससे महिलाओं को प्राइवेट अस्पतालों का सहारा लेना पड़ रहा है।

महिला चिकित्सक जिला अस्पताल से अटैच

सामुदायिक स्वस्थ्य केंद्र रुधौली पर दो माह पहले महिला चिकित्सक डा. शीबा खान को तैनात किया गया था। लेकिन अचानक उनको जिला महिला चिकित्सालय में अटैच कर दिया गया, जिससे वह जिले पर ड्यूटी कर रही हैं। इससे सीएचसी रुधौली पर महिला चिकित्सक नहीं है।इसके पहले भी सीएचसी रुधौली पर कई माह तक महिला चिकित्सक नहीं थी, जिससे महिलाओं को परेशान होना पड़ता था।

प्रसूताओं को असुविधा

इधर मौसम में बदलाव होने से तमाम तरह की बीमारियां फैल रही हैं। सीएचसी में बड़ी संख्या में इलाज के लिए मरीज पहुंच रहे हैं। सीएचसी पर महिला डाक्टर की तैनाती नहीं होने से महिलाओं, खासकर प्रसूताओं को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

चिकित्सक की तैनाती की मांग

महिला डॉक्टर की नियुक्ति न होने से लोगों में आक्रोश है। जिला पंचायत सदस्य अतीक अहमद ने कहा कि सीएचसी होने के बावजूद महिला चिकित्सक नहीं हैं, जिससे क्षेत्र से आने वाली महिलाओं को दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। कुसम्ही कुंवर के रामसुरेश भट्ट और नितेश भट्ट ने कहा कि सीएचसी पर महिला चिकित्सक के न होने के महिलाएं प्राइवेट अस्पताल में उपचार कराने के लिए मजबूर हैं। क्षेत्र के विष्णु पाण्डेय, प्रतीक सिंह, राजकुमार सोनी, रानू पांडेय, राजेश चौधरी, अब्दुल जब्बार, ग्रीस श्रीवास्तव, राजेश तिवारी, सहित आदि लोगो ने सीएचसी पर महिला चिकित्सक की नियुक्ति करने की मांग उठाई है।

खबरें और भी हैं...