पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57276.94-1 %
  • NIFTY17110.15-0.97 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48432-0.52 %
  • SILVER(MCX 1 KG)62988-1.1 %

बस्ती में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या:सुलह करने से इनकार पर दबंगों ने लाठी-डंडे से किया हमला, पुलिस पर लगा आरोपियों को बचाने का आरोप

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बस्ती में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या। - Money Bhaskar
बस्ती में अधेड़ की पीट-पीटकर हत्या।

बस्ती के दुबौलिया थाना क्षेत्र में रविवार को एक अधेड़ की लाठी-डंडों और ईंट से हमला कर हत्या कर दी गई। आक्रोशित परिजनों ने आरोपियों की गिरफ्तारी न होने तक शव को पोस्टमार्टम के लिए देने से इनकार कर दिया। पुलिस ने काफी मान-मनौव्वल की और आरोपियों की गिरफ्तारी का भरोसा दिलाया तब जाकर शव को पोस्टमार्टम के लिए सौंपा।

परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया। परिजनों ने कहा कि पुरानी रंजिश को लेकर एक सप्ताह पूर्व हुई मारपीट में मुकदमा दर्ज करने के बाद भी पुलिस ने आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं की। उल्टे उनके घर पर ही पुलिस का पहरा लगा दिया गया।

सुलह का दबाव बना रहा था आरोपी पक्ष

बता दें कि दुबौलिया थाना क्षेत्र के रमवापुर गांव निवासी चन्द्रशेखर के घर में घुसकर गांव निवासी बलिराम के परिवार वालों ने मारपीट की थी। इस दौरान चन्द्रशेखर के परिवार के कई सदस्य घायल हो गए थे। 21 नवंबर को हुई मारपीट की घटना के मामले में पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया, लेकिन किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं की। चन्द्रशेखर के पुत्र प्रमोद कुमार का कहना है कि आरोपी दर्ज मुकदमे में सुलह का दबाव बना रहे थे। जब उनके पिता ने सुलह करने से इंकार कर दिया तो रविवार को आरोपियों ने खेत की ओर गए उनके पिता चन्द्रशेखर (50) पर डंडे, ईंट से प्रहार कर लहूलुहान कर दिया।

परिजनों ने शव देने से किया इनकार

वे किसी तरह भागकर घर पहुंचे और दरवाजे पर उन्हें खून की उल्टी हुई और उन्होंने दम तोड़ दिया। उनकी मौत के बाद परिजनों ने पुलिस पर आरोपियों को बचाने का आरोप लगाया। कहा कि यदि दर्ज मुकदमें में पुलिस ने कार्रवाई की होती तो हत्या जैसी घटना न होती। सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेना चाहा तो परिजनों ने इनकार कर दिया।

सीओ ने दिया कार्रवाई का आश्वासन

आरोपियों की गिरफ्तारी करते हुए न्याय दिलाने की मांग की। मौके पर सीओ कलवारी आलोक प्रसाद पहुंचे। किसी तरह परिवार को समझा-बुझाकर और कार्रवाई का आश्वासन देते हुए उनका आक्रोश शांत कराया। इसके बाद परिजनों ने शव पुलिस को सौंपा। सीओ ने बताया कि शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है। जो भी दोषी होंगे, उन पर कड़ी विधिक कार्रवाई की जाएगी।