पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बस्ती में किसानों को बिना मुआवजा दिए सड़क का निर्माण:विधानसभा में गूंजेगा किसानों का मुद्दा, पूर्व विधानसभा अध्‍यक्ष ने किसानों से की मुलाकात

बस्तीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बस्ती में राम जानकी मार्ग पर बिना मुआवजा दिए जबरिया किसानों की जमीन पर सड़क बना लेने, शिकायत करने पर किसानों पर फर्जी मुकदमा दर्ज कर देने का मामला विधानसभा में उठाया जाएगा। पूर्व विधानसभाध्यक्ष एवं विधायक माता प्रसाद पाण्डेय ने डाक बंगले पर बातचीत करते हुए यह जानकारी दी।

बताया कि छावनी धनघटा मार्ग के निर्माण के नाम पर प्रशासन द्वारा हजारों किसानों की जमीन पर बिना मुआवजा दिए जबरिया कब्जा कर लेने, समाजवादी पार्टी के नेताओं द्वारा विरोध करने पर मुकदमा दर्ज कर उत्पीड़न किए जाने के मामले को गंभीरता से लिया है। उन्होंने 6 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का गठन किया था। प्रतिनिधि मण्डल ने सोमवार को मौके पर जाकर अनेक किसानों से वार्ता किया।

6 सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का गठन

किसानों ने बताया कि रामजानकी मार्ग का चौड़ीकरण किए जाने से उन्हें कोई शिकायत नहीं है। किन्तु उनकी जमीन का समुचित मुआवजा उन्हें दिया जाए। पूर्व विधानसभाध्यक्ष ने कहा कि नए कानूनों के अनुसार बिना भूमि अधिग्रहण और मुआवजा दिए किसानों की जमीन पर कोई निर्माण नहीं किया जा सकता। किन्तु यहां तक किसी नियम कानून का पालन ही नहीं किया गया और उल्टे किसानों पर मनगढ़ंत मुकदमे लाद दिए गए। कहा कि प्रतिनिधि मण्डल सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव को अपनी रिपोर्ट सौंपेगा और इस मामले को विधानसभा में उठाया जाएगा। यह किसान हितों का गला घोटने जैसा कृत्य है। भाजपा की सरकार में किसानों पर इसी प्रकार से जुल्म ढाये जा रहे हैं। समाजवादी पार्टी इसे बर्दाश्त नहीं करेगी और इस मामले को प्रमुखता से उठाते हुए किसानों को न्याय दिलाया जाएगा।

प्रतिनिधि मण्डल में सपा प्रदेश उपाध्यक्ष पूर्व विधायक जयशंकर पाण्डेय, पूर्व मंत्री एवं विधायक लालजी वर्मा, समाजवादी अधिवक्ता सभा के प्रदेश महासचिव अधिवक्ता उस्मान सिद्दीकी, सपा यूथ विग्रेड के राष्ट्रीय अध्यक्ष सिद्धार्थ सिंह, विधायक एवं सपा जिलाध्यक्ष महेन्द्रनाथ यादव शामिल रहे।

खबरें और भी हैं...