पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

बस्ती में कृषि कानून वापसी की भाकियू ने की सराहना:प्रदेश सचिव ने कहा- शहीद किसानों को सच्ची श्रद्धांजलि, मांगें पूरी होने तक जारी रहेगा आंदोलन

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बस्ती में कृषि कानून वापसी की भाकियू ने की सराहना। - Money Bhaskar
बस्ती में कृषि कानून वापसी की भाकियू ने की सराहना।

बस्ती जिले में भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश सचिव दिवान चंद पटेल ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने के निर्णय की सराहना की। उन्होंने कहा कि किसान अपने अधिकारों का एक चरण जीत गए हैं। यह सफलता उन किसानों के प्रति सच्ची श्रद्धांजलि है, जिन्होंने आन्दोलन में अपने प्राण गंवा दिए।

किसानों की बात समझने में एक वर्ष से अधिक का समय लगा

दिवान चंद पटेल ने कहा कि केंद्र की अहंकारी मोदी सरकार को किसानों की बात समझने में एक वर्ष से अधिक का वक्त लग गया। सरकार किसानों की हितैषी होती तो लगभग 700 किसानों को शहादत न देनी पड़ती। उन्होंने कहा कि अभी एक मोर्चे पर जीत मिली है। एमएसपी, न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गारंटी कानून, स्वामी नाथ आयोग की रिपोर्ट लागू किए जाने, बिजली विधेयक आदि मुद्दों को लेकर राष्ट्रीय नेतृत्व के आवाह्न पर आंदोलन जारी रहेगा।

किसान परिवारों को मिले उचित मुआवजा

दिवान चंद पटेल ने कहा कि सरकार संसद में कानून वापस लेने की प्रक्रिया पूरी करने के साथ ही न्यूनतम समर्थन मूल्य पर गारंटी कानून पर अपनी स्थिति स्पष्ट करे और किसानों से वार्ता कर सहमति बनाए, जिन किसानों पर फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए हैं, उसे वापस लेने के साथ ही किसान आंदोलन में शहादत देने वाले किसानों को शहीद का दर्जा, उनके परिवारों को समुचित मुआवजा दिया जाए।