पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX59037.18-0.72 %
  • NIFTY17617.15-0.79 %
  • GOLD(MCX 10 GM)48458-0.16 %
  • SILVER(MCX 1 KG)646560.47 %

बस्ती पहुंची 'सामाजिक परिवर्तन यात्रा':शिवपाल बोले- अगर सपा से नहीं हुआ गठबंधन तो छोटे दलों और एक राष्ट्रीय पार्टी के साथ जा सकते हैं

बस्ती2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बस्ती पहुंची 'सामाजिक परिवर्तन यात्रा'। - Money Bhaskar
बस्ती पहुंची 'सामाजिक परिवर्तन यात्रा'।

‘सामाजिक परिवर्तन यात्रा’ का रथ लेकर बस्ती पहुंचे प्रगतिशील समाजवादी पार्टी (लोहिया) के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि वह अखिलेश यादव से समझौता करने को तैयार हैं, लेकिन उन्हें भी हमारे जीतने वाले प्रत्याशियों का सम्मान करना होगा। यह सुनिश्चित करना होगा कि उन्हें विधानसभा चुनाव में टिकट दिया जाए। शिवपाल यादव ने कहा कि अगर सपा से समझौता नहीं हुआ तो छोटे दलों और एक राष्ट्रीय पार्टी के साथ जा सकते हैं।

40-45 सालों तक नेताजी के साथ काम किया

इस दौरान शिवपाल यादव का समाजवादी पार्टी और परिवार से बिखराव का दर्द भी झलका। उन्होंने कहा कि हमने 40-45 साल नेताजी के साथ काम किया है। पार्टी के अध्यक्ष भी रहे। अगर हमसे कुछ दिक्कत होगी तो हमें दूसरे प्रदेश भेज दें, वहां हम पार्टी के लिए काम करेंगे। हमारे पास खेती-बाड़ी का भी काम है और भी काम हैं। हम सब कुछ त्याग करने के लिए तैयार हैं। शिवपाल यादव ने कहा कि अगर थोड़ा बहुत हक हमारा नेताजी के साथ समझते हैं तो वह नेताजी और सपा के सीनियर नेताओं की बात मान लें।

हमारे लोगों को मिलना चाहिए सम्मान

शिवपाल यादव ने कहा कि मैं बस इतना बताना चाहता हूं कि अगर सपा से गठबंधन नहीं हो पाता है तो हम छोटे-छोटे दलों के साथ एक राष्ट्रीय पार्टी के साथ जा सकते हैं। शिवपाल ने कहा कि हमने कहा है कि अखिलेश आप मुख्यमंत्री बन जाओ हम साथ हैं, लेकिन जो हमारे साथ हैं और वह चुनाव जीत सकते हैं, उनको टिकट दें, हम लोगों का सम्मान रखें। अगर गठबंधन करना चाहें तो गठबंधन कर लें। अगर गठबंधन में कोई दिक्कत आ रही हो तो हम विलय को भी तैयार हैं, लेकिन हमारे साथ पीछे जो लोग हैं उनको सम्मान पहले मिलना चाहिए।

हम पुराने इतिहास में नहीं जाना चाहते

शिवपाल यादव ने कहा कि मैने यहां तक कहा है कि अगर मुझे टिकट न देना चाहो, मुझे न लड़ाना चाहो, हम पर अगर कहीं कुछ संदेह हो तो मैं अपना और काम देख लूंगा, कहीं दूसरी जगह भेज देना मुझे। शिवपाल ने कहा कि हम पुराने इतिहास में नहीं जाना चाहते। सबको साथ लेकर इतिहास बनाना चाहते हैं। बस उनका एक ही लक्ष्य है, बीजेपी को हटाना। इसके लिए वे समाजवादी पार्टी से हर तरह का समझौता करने को तैयार हैं।

खबरें और भी हैं...