पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Basti
  • By Showing A Dilapidated Building In The Township, The Deed Of The Madrasa Was Done: Threatening To Run A Bulldozer, Children Studying In Madrassa For 33 Years

बस्ती...जर्जर भवन दिखाकर कर लिया मदरसे का बैनामा:बुलडोजर चलाने की दे रहा धमकी, 33 सालों से मदरसे में पढ़ रहे बच्चे

बस्ती9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जमीन का बैनामा करते समय मदरसे की जमीन को जर्जर भवन दिखा दिया गया। - Money Bhaskar
जमीन का बैनामा करते समय मदरसे की जमीन को जर्जर भवन दिखा दिया गया।

बस्ती के मदरसे की जमीन को अपने रसूख के बल पर युवक ने रजिस्ट्री करा ली। रसूखदार युवक मौलाना को मदरसा खाली न करने पर बुलडोजर चलवाने की धमकी दी जा रही है। ऐसे में मदरसे में पढ़ने वाले बच्चों का भविष्य भी अधर में लटक गया है।

मामला जिले के रुधौली नगर पंचायत के विशुनपुरवा वार्ड नम्बर 15 का है। जहां पिछले 33 वर्षों से गाटा संख्या 32 में मदरसा अरबिया इमदादुल उलेमा संचालित हो रहा है। इस जमीन को गांव के नवीरहम ने रमजान अली की मां नजीबुन्निशा को रजिस्ट्री कर दिया। जमीन का बैनामा करते समय मदरसे की जमीन को जर्जर भवन दिखा दिया गया। ग्रामीणों ने विधायक, डीएम, एसडीएम और तहसीलदार से शिकायत की। लेकिन इसके बाद भी आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

बताया जा रहा है कि नवीरहम के पिता नेवास अली हाजी ने मदरसा बनाने के लिए दान किया था।
बताया जा रहा है कि नवीरहम के पिता नेवास अली हाजी ने मदरसा बनाने के लिए दान किया था।

बताया जा रहा है कि नवीरहम के पिता नेवास अली हाजी ने मदरसा बनाने के लिए दान किया था। ग्रामीण मुजीबुल्लाह खां, अब्दुल कलाम, अकरामुन्निशां व अन्य का कहना है कि यह मदरसा रजिस्टर्ड मदरसा है और वर्ष 1988 से संचालित हो रहा है। मदरसा के निर्माण के लिए जगह- जगह से चन्दा जुटाकर इसका निर्माण कराया गया है। यहां आस पास के गांवों तक के बच्चे पढ़ने के लिए आते हैं।

बताया कि मदरसा किसी को बैनामा नहीं किया जा सकता, इसलिए उसे जर्जर भवन दिखाकर धोखे से उसकी रजिस्ट्री कर दी गई। डीएम सौम्या अग्रवाल ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में है। इसकी जांच कराकर कार्यवाही कराई जाएगी।