पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Basti
  • 48 Rupees Annually For Farming In The Settlement: Income Certificate Issued With Digital Signature Of Tehsildar, Report Of Bhulekh Officer And Lekhpal Also Started

बस्ती में खेती की सालाना आए 48 रुपए:तहसीलदार के डिजिटल सिग्नेचर के साथ आय प्रमाणपत्र हुआ जारी, भूलेख अधिकाारी और लेखपाल की रिपोर्ट भी लगी

बस्ती7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
जारी प्रमाण पत्र में क्षेत्रीय भूलेख निरीक्षक एवं लेखपाल की जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रमाण पत्र जारी किया जाना दर्शाया गया है। - Money Bhaskar
जारी प्रमाण पत्र में क्षेत्रीय भूलेख निरीक्षक एवं लेखपाल की जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रमाण पत्र जारी किया जाना दर्शाया गया है।

बस्ती की सदर तहसील के एक लेखपाल की कृपा से महिला का 48 रुपए वार्षिक आय का प्रमाण पत्र बन गया। आय प्रमाण पत्र बाकायदा तहसीलदार के डिजिटल सिग्नेचर और मुहर के साथ जारी कर दिया गया। इसे ऑनलाइन साइट पर भी अपलोड कर दिया गया। जारी प्रमाण पत्र में क्षेत्रीय भूलेख निरीक्षक एवं लेखपाल की जांच रिपोर्ट के आधार पर प्रमाण पत्र जारी किया जाना दर्शाया गया है।

महिला की मासिक आए 3.83 पैसे दर्शाई गई

मामला सदर ब्लाक के ग्राम पंचायत सूसीपार का है। यहां की निवासी महिला प्रभावती पत्नी स्व. भगेलू के जारी आय प्रमाण पत्र में उसकी वार्षिक आय 48 रुपए दिखाई गई है। उसके आय का साधन कृषि बताया गया है। हैरान करने वाली बात यह है कि महिला के पूरे परिवार की सभी श्रोतों से मासिक आय 3.83 पैसे दर्शाई गई है।

ऑनलाइन बना है प्रमाण पत्र

महिला ने आय प्रमाण पत्र के लिए सहज जनसेवा केन्द्र पर आनलाइन आवेदन किया था। आनलाइन आवेदन के बाद उसका आय प्रमाण पत्र बना, जिस पर कानूनगो और लेखपाल की रिपोर्ट के बाद उसे सक्षम अधिकारी तहसीलदार के डिजिटल हस्ताक्षर और मुहर से जारी किया गया। इसके बाद सहज जनसेवा केन्द्र द्वारा यह आय प्रमाण पत्र जारी किया गया।

अधिकारी बोले- कम्प्यूटर की गलती

27 दिसम्बर 2021 को जारी यह आय प्रमाण पत्र 3 वर्ष के लिए मान्य है। मामले में लेखपाल संतोष पासवान से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि कम्प्यूटर की गलती से त्रुटिवश ऐसा हो गया है। इसे लॉक कराते हुए सुधार कर आय प्रमाण पत्र निर्गत कराया जाएगा। मामले में एसडीएम सदर से जानकारी चाहा गया तो उन्होंने कहा कि तहसीलदार से बात करिए वही इस मामले में बता पाएंगे। तहसीलदार सदर के सीयूजी नंबर पर काल किया गया लेकिन संपर्क नहीं हो पाया।