पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत कार्यशाला का आयोजन:ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन संबंधी गतिविधियों के बारे में दी जानकारी

बरेलीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन संबंधी गतिविधियों के बारे में दी जानकारी। - Money Bhaskar
ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन संबंधी गतिविधियों के बारे में दी जानकारी।

बरेली के विकास भवन में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण फेस टू के अंतर्गत एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस दौरान मुख्य विकास अधिकारी चन्द्र मोहन गर्ग ने गांव को मॉडल विलेज बनाने हेतु नवीनतम तकनीकों का उपयोग करने की बात कही है।

उन्होंने खंड विकास अधिकारी, सहायक विकास अधिकारी पंचायत एवं समस्त जिला कंसलटेंट को ग्रामीण स्तर पर ठोस एवं तरल अपशिष्ट के क्षेत्र में बनाई जा रही ग्राम स्वच्छता की कार्य योजना के तहत कार्य करते हुए गांव को ओडीएफ प्लस के अंतर्गत मॉडल विलेज के रूप में विकसित करने के निर्देश दिए हैं।

विकास भवन में हुई बैठक

विकास भवन सभागार में स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण फेस टू के अंतर्गत ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन संबंधी गतिविधियों के बारे में एक दिवसीय कार्यशाला की अध्यक्षता मुख्य विकास अधिकारी कर रहे थे। कार्यशाला में जिला पंचायत राज अधिकारी, अपर जिला पंचायत राज अधिकारी, समस्त खंड विकास अधिकारी, समस्त सहायक विकास अधिकारी पंचायत, समस्त खंड प्रेरक, विकास खंड के जेई, यूनिसेफ के वास कंसलटेंट जांबाज, मंडलीय स्वच्छ भारत मिशन के कंसलटेंट राजपाल सिंह, एसआरजी अमित तोमर तथा स्वच्छ भारत मिशन के जिला कंसलटेंट द्वारा पावर पॉइंट पर प्रेजेंटेशन भी दिया गया।

जिसमें समुदायिक खाद के गड्ढे, समुदायिक सोक पिट, व्यक्तिगत खाद के गड्ढे, वर्मिनकंपोस्ट नाडेप के निर्माण कार्य डिजाइन और एस्टीमेट के साथ निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार प्रस्तुतिकरण तथा चर्चा की गई। इस दौरान भारी संख्या में अफसर और कर्मचारी मौजूद रहे। इसी के साथ ही अफसरों जल्द से जल्द नवीनतम तकनीकि का उपयोग करने के साथ ही ग्रामीण स्तर पर इसके लिए ठोस प्लान बनाने के निर्देश दिए हैं। जिससे ज्यादा से ज्यादा किसानों का फायदा हो सके।