पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जैविक खेती के नाम पर उत्तराखंड के लोगों से ठगी:इज्जतनगर के एयरफोर्स कॉलोनी निवासी दंपत्ति ने उत्तराखंड के लोगों को बनाया निशाना

बरेली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इज्जतनगर के एयरफोर्स कॉलोनी निवासी दंपत्ति ने उत्तराखंड के लोगों से जैविक खेती के नाम पर की ठगी। - Money Bhaskar
इज्जतनगर के एयरफोर्स कॉलोनी निवासी दंपत्ति ने उत्तराखंड के लोगों से जैविक खेती के नाम पर की ठगी।

बरेली के इज्जतनगर के एयरफाेर्स कॉलोनी के रहने वाले दंपत्ति ने जैविक खेती के नाम पर लाखों रुपये की ठगी कर ली। पीड़ितों ने ठगी का एहसास होने पर रुपये वापस मांगे तो दंपत्ति ने देने से इन्कार कर दिया।

जिसके बाद उत्तराखंड निवासी सभी पीड़ित रविवार को दंपत्ति के घर धावा बोल दिया और जमकर हंगामा किया। जानकारी पर पुलिस पहुंची और दोनों पक्षों को लेकर थाने गई। जहां तहरीर के बाद दोनों पक्षों में देर रात पंचायत होती रही लेकिन मामले का हल नहीं निकल सका।

मोटा मुनाफा होने का दिया झांसा

उत्तराखंड के उधम सिंह नगर निवासी ग्रीश चंद्र ने बताया कि इज्जतनगर के एयरफोर्स कॉलोनी निवासी दिलीप और उनकी पत्नी संजू कटियार का अक्टूबर 2020 में उधम सिंह नगर में आना जाना रहता था। इस दौरान उनकी मुलाकात दोनों से हुई तो दिलीप और संजू उनके घर भी आने-जाने लगे। उन्होंने उनके साथ उनके मुहल्ले के लाेगों को जैविक के खेती के बारे में जागरुक किया। जिसके बाद उनके मुहल्ले के लोगों में उत्सुकता बढ़ गई। दिलीप और संजू ने सभी को झांसे में लेते हुए कहा कि उनके साथ सभी लोग मिलकर जैविक खेती करें और मोटा मुनाफा कमाएं।

उन्होंने यह भी झांसा दिया कि इस खेती को करने पर सरकार भी मदद देती है। जिसके बाद सभी लोग इनके झांसे में आ गए। जिसके बाद दिलीप और उसकी पत्नी ने कहा कि कोई भी काम शुरू करने से पहले थोड़ा इनवेस्टमेंट जरुरी है। जिसके बाद झांसे में आकर ग्रीश चंद्र ने एक लाख रुपये तो मुहल्ले के कई और लोगों से ढाई लाख रुपये वसूल कर ठग लिए। जिसके बाद वह दोबारा कभी वहां गया ही नहीं। फोन पर सभी लोग रुपये वापस मांगते रहे लेकिन वह सिर्फ झांसा देता रहता था। फिलहाल इज्जतनगर पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों में वार्ता अभी चल रही है। मामला नहीं बनने पर तहरीर की जांच के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।