पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

डिप्टी सीएम बृजेश पाठक ने बरेली का किया दौरा:जिला अस्पताल के बाद पुलिस अस्पताल का किया निरीक्षण, डॉक्टर समेत तीन सस्पेंड

बरेली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आईएमए हॉल स्थित आपातकाल कार्यक्रम में डिप्टी सीएम बृजेश पाठक हुए शामिल। लोकतंत्र रक्षक सेनानियों का किया सम्मान।

यूपी सरकार के डिप्टी सीएम और स्वास्थ्य मंत्री बृजेश पाठक आपातकाल दिवस (काला दिवस) पर बरेली पहुंचे बरेली के आईएमए हॉल में उन्होंने आपातकाल कार्यक्रम में शिरकत की। कार्यक्रम में मंच से भाषण के दौरान उन्होंने आपातकाल के बारे में बताया और लोकतंत्र रक्षक सेनानियों को सम्मानित किया। इस दौरान बृजेश पाठक ने कांग्रेस पार्टी पर वार करते हुए कहा कि कांग्रेस के कर्मो के बारे में दुनिया जानती है। उन लोगों ने देश की सत्ता पर कई दशकों तक कब्जा किया। वहीं उप मुख्यमंत्री ने कहा कि आप सोचिये महात्मा गांधी और राहुल गांधी को सब एक समझते होंगे लेकिन ऐसा है कुछ भी नही बस गांधी नाम वोट हासिल करने के लिये जोड़ लिया और यह सब कांग्रेस पार्टी में ही सम्भव हो सकता है।

डिप्टी सीएम ने पुलिस अस्पताल में ताला मिलने पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को फटकार लगाने के बाद फोन पर ही प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को फोन कर ड्यूटी से लापता एक डॉक्टर समेत दो फार्मासिस्ट के सस्पेंड करने के निदेश दे दिए।
डिप्टी सीएम ने पुलिस अस्पताल में ताला मिलने पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को फटकार लगाने के बाद फोन पर ही प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को फोन कर ड्यूटी से लापता एक डॉक्टर समेत दो फार्मासिस्ट के सस्पेंड करने के निदेश दे दिए।

इसी दौरान डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक ने सेनानियों को सम्मानित किया और सभी से ब्रजेश पाठक ने आशीर्वाद भी लिया। इसके बाद डिप्टी सीएम ने जिला अस्प्ताल फिर पुलिस अस्पताल का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस अस्पताल में ताला मिलने पर उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को फटकार लगाने के बाद फोन पर ही प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को फोन कर ड्यूटी से लापता एक डॉक्टर समेत दो फार्मासिस्ट के सस्पेंड करने के निदेश दे दिए।

जिला अस्पताल में खामियों पर फटकार

शनिवार दोपहर दो बजे डिप्टी सीएम बृजेश पाठक को बरेली आना था लेकिन उनका कार्यक्रम लेट हुआ और वह 3 बजे के बाद बरेली पहुंचे। जहां वह सबसे पहले आईएमए हॉल में आयोजित आपात काल दिवस के कार्यक्रम में शामिल हुए। वहां का दौरान करने के बाद वह अचानक जिला अस्पताल पहुंचे। जहां अस्पताल के गेट पर एक बुजुर्ग को देखकर रुके। पूछताछ में पता चला बुजुर्ग मानसिक रुप से कमजोर है। जिसके बाद डिप्टी सीएम ने बुजुर्ग से बात की और उसे खाना खिलाने के बाद खुद रुपये देकर चाद मंगाई और स्ट्रेचर में चादर बिछवाकर बुजुर्ग को अस्पताल में भर्ती करवाया। इसके बाद उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण किया। जहां मिली कुछ खामियों को देखकर उन्होंने नाराजगी जाहिर की और उसे तत्काल सुधारने के निर्देश दिए। इस दौरान हार्ट पेसेंट समेत कुछ रोगों के इलाज के लिए डॉक्टर न होने पर जल्द ही डॉक्टर उपलब्ध कराने के निर्देश दिए।

जिला अस्पताल के बाहर बैठे बुजुर्ग को देख रुके डिप्टी सीएम, हालचाल लेने के बाद खाना खिलाया फिर अस्पताल में भर्ती करवाया।
जिला अस्पताल के बाहर बैठे बुजुर्ग को देख रुके डिप्टी सीएम, हालचाल लेने के बाद खाना खिलाया फिर अस्पताल में भर्ती करवाया।

300 बेड अस्पताल की जगह पहुंचे पुलिस अस्पताल

जिला अस्पताल में निरीक्षण के बाद डिप्टी सीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अफसरों को 300 बेड कोविड अस्पताल के निरीक्षण की बात की। स्वास्थ्य विभाग के अफसर 300 बेड की तरफ दौड़े लेकिन डिप्टी सीएम ने अपना रास्ता बदला और सीधे पुलिस अस्पताल पहुंचे। जहां खमिया तो मिली ही साथ ही पुलिस अस्पताल के साथ नगरीय प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में ताला लटका देख उनका गुस्सा चौथे आसमान पर पहुंच गया। जिसके बाद वहीं खड़े-खड़े उन्होंने प्रमुख सचिव स्वास्थ्य को लापता डॉक्टर सुमन दत्त गौतम फार्मासिस्ट राकेश समेत तीन कर्मचारी को सस्पेंड करने के निर्देश दे दिए। इतना ही उन्होंने कार्रवाई की रिपोर्ट भी तलब की है। जिसके बाद स्वास्थ्य विभाग में हड़कंप मच गया।

वेलकम के लिए नहीं पहुंचे डीएम और एसएसपी

डिप्टी सीएम को शनिवार दोपहर 3 बजे के बाद एयरपोर्ट पहुंचे। जहां प्रोटोकाल के तहत डीएम शिवाकांत दिवेदी और एसएसपी रोहित सिंह सजवाण को वहां उनके स्वागत के लिए पहुंचना था, लेकिन दोनों वहां नदारद थे। जिसे लेकर डिप्टी सीएम ने नाराजगी भी जाहिर की। उसके बाद डिप्टी सीएम सर्किट हाउस पहुंचे गए। हालांकि वहां डीएम शिवाकांत दिेवेदी पहुंचे और उन्का स्वागत किया। इस दौरान पता चला कि उनका कार्यक्रम लेट होने के चलते डीएम और एसएसपी देहात क्षेत्र में तहसील दिवस पर चले गए थे। हालांकि डिप्टी सीएम की नाराजगी इस दौरान झलक रही थी।

खबरें और भी हैं...