पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उत्तराखंड की पहाड़ियों से लापता लड़के पीलीभीत के निकले:रेस्क्यू टीम ने दोनों को ढूंढ निकाला, 10,400 फीट की ऊंचाई पर गए थे सैर करने

फरीदपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पीलीभीत निवासी सन्तोष कुमार (27 वर्ष) और विशाल गंगवार (25 वर्ष) 16 मई को मुनस्यारी से पर्यटक स्थल खलियाटॉप भ्रमण पर गए थे, लेकिन मार्ग भटकने से बीच में लापता हो गए। उन्होंने रेस्क्यू टीम को अपनी लोकेशन भेजी, लेकिन जब टीम मौके पर पहुंची तो वहां मौजूद नहीं मिले। दोनों पर्यटक मंगलवार को गंभीर घायल अवस्था में मिले, जिन्हें प्रशासन की टीम ने रेस्क्यू किया।

मुनस्यारी में दोनों युवा होटल में कमरा लेकर रुके हुए थे। वहां रजिस्टर में उन्होंने अपना नाम विशाल गंगवार निवासी बरेली उत्तर प्रदेश व मोबाइल नंबर 8218220343 व बाइक नम्बर यूपी 25 सीई 9130 दर्ज कराई। विशाल ने अपने साथी का नाम संतोष कुमार बताया था।

लाइट नहीं थी, इसलिये नहीं हो पाई थी आधार की फोटो कॉपी

शनिवार शाम को जिस समय वह लोग होटल पहुंचे थे, उस वक्त शहर में लाइट नहीं थी। इस कारण होटल कर्मियों ने उन्हें दिन के समय में अपने आधार कार्ड की फोटो कॉपी देने के लिए कहा था।

होटल में बिना बताए निकले

रविवार सुबह करीब 10:00 बजे दोनों लोग होटल वालों को बिना बताए चले गए, जिस वजह से उनके आधार कार्ड होटल वालों के पास नहीं है। मुनस्यारी पातलठौड़ में खलिया गेट के पास दोनों युवाओं ने आगे जाने के लिए निर्धारित 20 रुपये की पर्ची कटाई। उसमें भी होटल में दर्ज कराया नाम व मोबाइल नंबर लिखाया। इसके बाद दोनों आगे बढ़ गये।

दोपहर साढ़े तीन बजे बताया, भटक गए हैं रास्ता

करीब 3:30 बजे विशाल गंगवार ने रेस्क्यू टीम को कॉल किया कि वह मार्ग भटक गए हैं। उनकी बताई लोकेशन पर टीम पहुंची तो वे लोग वहां नहीं थे। सोमवार सुबह 8 बजे फिर विशाल का फोन आया। बचाव दल ने लोकेशन मांगी लेकिन जब रेस्क्यू टीम वहां पहुंची तो वे लोग वहां नहीं मिले।

10,400 फीट की ऊंचाई पर है क्षेत्र

मुनस्यारी में खलिया क्षेत्र 10 हज़ार 400 फीट की ऊंचाई पर है। वहीं पर दोनों युवा घूमने गए थे। मुनस्यारी में जिस होटल वे रुके थे वहां कमरा भी बंद है। होटल कर्मियों के पास दूसरी चाबी भी नहीं है। इस कारण उनका वास्तविक पता नहीं मिल पाया है। पिछले सप्ताह भी मुम्बई के दो पर्यटक रास्ता भटक गए थे लेकिन लोकेशन बताने पर वे मिल गए थे। बता दें कि रविवार से मुनस्यारी का मौसम भी काफी खराब है।

जिलाधिकारी डा.आशीष चौहान ने बताया कि दोनों पर्यटकों को उपचार के लिए हायर सेंटर भेजने को हेलीकाॅप्टर की व्यवस्था भी कर दी गई थी, लेकिन खराब मौसम की वजह से रेस्क्यू करना संभव नहीं हो सका। दोनों पर्यटकों को एम्बुलेंस से हायर सेंटर भेजा गया।