पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाराबंकी में स्कूल खुलने के बाद भी बंद मिले:कहीं स्कूल से अध्यापक तो कहीं बच्चे नदारद, कक्षाओं के दरवाजे पर लटका मिला ताला

बाराबंकी4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्कूल में ताला लटकता मिला। - Money Bhaskar
स्कूल में ताला लटकता मिला।

बाराबंकी में नया शिक्षा सत्र की शुरुआत में ही बनीकोडर की शिक्षा व्यवस्था औंधे मुंह गिरती नजर आई है। कुछ विद्यालयों मे जहां ताला लटकता मिला वहीं कई विद्यालयों से अध्यापक गायब रहे। स्कूल खुलने के तीसरे दिन परिषदीय विद्यालयों में शिक्षा और साफ-सफाई के साथ अध्यापकों और बच्चों की उपस्थिति का हाल जाना गया।

विद्यालयों में पहुंचने के बाद बनीकोडर की शिक्षा व्यवस्था खुद शर्मिंदा होते दिखी। वास्तविकता सरकार के दिशा निर्देशों को मुंह चिढ़ाती नजर आ रही थी। प्राथमिक विद्यालय शंकरगढ़ और प्राथमिक विद्यालय बहरेला डीह करीब 11बजे ताला लटकता हुआ सर्व शिक्षा अभियान की पोल खोलती नजर आई। इन विद्यालयों में कार्यरत अध्यापक नदारद रहे।

प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत अध्यापक नदारद रहे।
प्राथमिक विद्यालय में कार्यरत अध्यापक नदारद रहे।

प्राथमिक विद्यालय में नहीं आए बच्चे
पहले प्राथमिक विद्यालय सोहासा पहुंचकर हाल जाना। यहां पर बड़ा ही चौकाने वाला मामला सामने आया। यहां पर विद्यालय में साढ़े 9 बजे तक एक भी बच्चा स्कूल नहीं आया। यहां पर प्रधानाध्यापक के पद पर रविन्द्र शुक्ला की तैनाती है। शुक्ला ने बताया कि विद्यालय में 61 बच्चे पंजीकृत हैं, लेकिन शिक्षा सत्र के दूसरे दिन एक भी बच्चा न आने पर अध्यापकों की सजगता की पोल खोलकर रख दी।

खण्ड शिक्षाधिकारी ने कहा कि जिन विद्यालयों में ताला लगा है। उन्हें नोटिस दिया जाएगा।
खण्ड शिक्षाधिकारी ने कहा कि जिन विद्यालयों में ताला लगा है। उन्हें नोटिस दिया जाएगा।

कंपोजिट विद्यालय में 3 बच्चे मिले
इसके बाद कंपोजिट विद्यालय सिल्हौर का हाल जाना गया। यहां भी शिक्षा व्यवस्था तार-तार होती दिखाई पड़ी। विद्यालय में बाहर से लेकर प्रधानाचार्य और कक्षाओं में गंदगी व्याप्त थी। विद्यालय परिसर बड़ी-बड़ी झाड़ियों के बीच कहा जाए तो गलत नहीं होगा। यहां पर बताया गया कि विद्यालय में 224 बच्चे पंजीकृत हैं, लेकिन उपस्थिति मात्र 3 बच्चों की थी। अनुदेशक सूर्य प्रकाश शुक्ला, एकता कुमारी विद्यालय से गायब रहे। इसी प्रकार प्राथमिक विद्यालय भरहेमऊ में भी एक अलग ही नजारा देखने को मिला।

जिसकी सूचना मौके से ही खण्ड शिक्षाधिकारी को देकर वास्तविकता जानने का प्रयास किया गया। इस संबंध में खण्ड शिक्षाधिकारी चंद्र शेखर यादव ने बताया कि जिन विद्यालयों में ताला लगा था। उन्हें नोटिस देकर जानकारी की जा रही है। जो भी अध्यापक विद्यालय में नहीं थे, सभी के बारे में जानकारी लेकर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...