पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

स्मार्ट बन रहे हैं बाराबंकी के स्कूल:अधिकारी बदल रहे हैं सरकारी स्कूलों की सूरत, गोद लेने के बाद काफी सुधार

बाराबंकी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

यूपी में सरकारी स्कूलों की शिक्षा व्यवस्था सुधारने पर योगी सरकार खासा ध्यान दे रही है। कम साक्षरता वाले गांवों में ज्यादा फोकस है। इसी के चलते ऑपरेशन कायाकल्प के तहत प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी और राजपत्रित अधिकारी को कम से कम एक परिषदीय स्कूल को गोद देने का आदेश जारी किया गया है। बाराबंकी जिले के नोडल अधिकारी शंभू शरण अपने गोद लिए विद्यालय को स्मार्ट स्कूलों' में बदलने को लेकर जुटे हुए हैं।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दूसरे कार्यकाल में शिक्षा को लेकर काफी जोर दिया जा रहा है। इसी के चलते शासन के आदेश पर विद्यालयों को गोद लेकर स्कूलों का कायाकल्प किया जा रहा है। ऑपरेशन कायाकल्प के तहत प्रदेश के सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी और राजपत्रित अधिकारी कम से कम एक परिषदीय स्कूल को गोद लें रहें है। यह अधिकारी प्राथमिक विद्यालयों को गोद लेकर इसमें पठन-पाठन के लिए आवश्यक मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराएंगे।

गोद लेने के बाद स्कूल में हो रहा बदलाव।
गोद लेने के बाद स्कूल में हो रहा बदलाव।

अधिकारी विद्यालय को स्मार्ट बनाने पर दे रहे ध्यान
बाराबंकी जिले में त्रिवेदीगंज विकासखंड क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय भागीखेड़ा को जिले के नोडल अधिकारी शंभू शरण ने गोद लिया है। गोद लेने के बाद से ही नोडल अधिकारी शंभू शरण इस विद्यालय पर काफी ध्यान दे रहे हैं। आज उन्होंने यहां पहुंचकर इस विद्यालय का कायाकल्प शुरू कराया है।

विद्यालयों को गोद लेकर इसका कायाकल्प किया जा रहा है।
विद्यालयों को गोद लेकर इसका कायाकल्प किया जा रहा है।

गोद लेने के बाद स्कूल में हुआ काफी सुधार
विद्यालय पहले भी चल रहा था और शिक्षण कार्य हो रहा था। लेकिन नोडल अधिकारी शंभू शरण के गोद लेने के बाद इस विद्यालय में काफी सुधार आ रहा है। आज खुद शंभू शरण यहां पर पहुंचे और विद्यालय में काफी देर तक बच्चों को पढ़ाया। जिसको लेकर बच्चों और ग्रामीणों में काफी खुशी देखने को मिली।