पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाराबंकी में ईंट-भट्ठा कारोबारियों ने किया प्रदर्शन:GST दर बढ़ने से भट्ठा कारोबारी परेशान, वित्त मंत्री के नाम डीएम को सौंपा ज्ञापन

बाराबंकी6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बाराबंकी में ईंट-भट्ठा कारोबारियों ने किया प्रदर्शन। - Money Bhaskar
बाराबंकी में ईंट-भट्ठा कारोबारियों ने किया प्रदर्शन।

जीएसटी काउंसिल की बैठक में ईंट पर जीएसटी दर को बढ़ाए जाने से ईंट-भट्ठा कारोबारी काफी परेशान हैं। कारोबारी सरकार से राहत दिए जाने की मांग कर रहे हैं, जिससे ईंट-भट्ठा कारोबार ऊभर सके। साथ ही आम लोगों को महंगी होने वाली ईंट से राहत मिले। इसे लेकर बाराबंकी में सोमवार को ईंट कारोबारी समिति के पदाधिकारियों ने जिलाधिकारी कार्यालय पहुंचकर वित्त मंत्री के नाम डीएम को ज्ञापन सौंपा। साथ ही मांगें न मानने पर आर-पार की लड़ाई की चेतावनी दी।

बढ़ी दरें वापस ले सरकार

बता दें कि जिले में ईंट निर्माता समिति के पदाधिकारियों ने सरकार द्वारा ईंट पर 12 प्रतिशत जीएसटी लगाए जाने को लेकर नाराजगी व्यक्त की है। केंद्र सरकार द्वारा बढ़ाई गई जीएसटी दरों को गंभीर समस्या बताया है। साथ ही कहा है कि बढ़ाए गए रेटों के साथ भट्ठों को नहीं चलाया जा सकता है। जीएसटी की बढ़ी दर सरकार को तत्काल वापस लेनी चाहिए। अगर बढ़ी दरें वापस नहीं ली गईं तो ईंट-भट्ठा कारोबारियों ने आर-पार के संघर्ष का ऐलान किया है।

सबका घर बनना सपना ही रह जाएगा

ईंट निर्माता समिति के अध्यक्ष शेषमणि तिवारी ने कहा कि लाल ईंटों पर जीएसटी दर अधिक बढ़ाया जाना सही नहीं है। इसे वापस लिए जाना चाहिए। सरकार जानती है कि विगत दो वर्ष से कोरोना महामारी के कारण जहां एक ओर ईंट व्यवसाय पूरी तहर चौपट और घाटे में है तो वहीं दूसरी ओर लोगों का भी कामकाज बुरी तहर प्रभावित होने के कारण वित्तीय स्थिति खराब है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना ‘सबका घर हो 2022 में अपना, हो पाना ऐसी परिस्थिति में सपना ही बनकर रह जाएगा।

खबरें और भी हैं...