पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

हैदरगढ़ में अब तक नहीं मिला तेंदुआ:वन विभाग की कांबिंग नहीं आ रही काम, क्षेत्र में दहशत का माहौल कायम

हैदरगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद बाराबंकी के हैदरगढ़ तहसील क्षेत्र के अंतर्गत सुबेहा थाना क्षेत्र के शरीफाबाद गांव में पिछले 1 वर्षों से जंगल में तेंदुआ होने की बात ग्रामीणों द्वारा कही जा रही है। कई बार तो कुछ ग्रामीणों ने खेतों के आसपास इस जंगली जानवर को टहलते हुए भी देखा है। लेकिन यह जानवर भी इतना चालाक है कि जहां पर इंसानों की संख्या ज्यादा होती है। वहां पर यह नहीं देखा जाता है। अक्सर रात में ही यह शिकार के लिए इधर-उधर घूमता है। पिछले वर्ष भी गांव में एक बकरी व मावेशी के बच्चे को अपना शिकार बना चुका है। हालांकि वन विभाग के क्षेत्रीय दारोगा अनुज कुमार सिंह लगातार जंगलों में कांबिंग कर रहे हैं।

उनका कहना है कि अभी तक ऐसे किसी भी जंगली जानवर को नहीं देखा गया है। लेकिन ग्रामीणों की बातों के आधार पर इस जंगली जानवर को ढूंढने का प्रयास लगातार जारी है। वहीं लोगों को जंगली जानवर अर्थात तेंदुआ से सतर्क रहने के लिए भी चेतावनी दे दी जा चुकी है। अचानक तेंदुआ निकलने से क्षेत्र में दहशत फैल गई थी। जिससे स्थानीय नागरिकों व किसानों में डर का माहौल व्याप्त हो गया। वहीं लोगों का कहना है कि तेंदुए ने एक बंदर का भी शिकार किया है।

शिकार के बाद से दहशत में थे ग्रामीण

जिसका शव क्षत-विक्षत अवस्था में जंगल में पड़ा मिला। इसके बाद ग्रामीणों ने इसकी सूचना वन विभाग की टीम को दी। वन विभाग को अज्ञात जंगली जानवर की सूचना मिलते ही क्षेत्र के वन दरोगा अनुज सिंह अपनी टीम के साथ शरीफाबाद के जंगल में पहुंचे। जहां पर बीती देर रात तक उन्होंने पूरे जंगल में कांबिंग किया। लेकिन अज्ञात जंगली जानवर का कोई पता नहीं चला। उन्होंने ग्रामीणों को सतर्क रहने के लिए भी सलाह दी है। जो पदचिन्ह मिले हैं उन्हें उच्चाधिकारियों को भेज दिया गया है। साथ ही जंगल में कांबिंग लगातार जारी है।