पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

फतेहपुर में जबरन शव उठाकर पुलिस ले गई घाट, VIDEO:परिजनों ने सड़क पर बॉडी रख लगाया जाम, कार्रवाई पर अड़े, समझाने पर अंतिम संस्कार

फतेहपुर, बाराबंकी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दिलीप का फाइल फोटो।

बाराबंकी जिले के फतेहपुर में रास्ते के विवाद को लेकर दो पक्षों में मारपीट हो गई थी। मारपीट में घायल युवक की दस दिन बाद इलाज के दौरान मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद युवक का शव घर पहुंचा। पुलिस ने लोगों की नाराजगी के डर से युवक का अंतिम संस्कार कराना चाहा। खुद ही शव को अपने कंधों पर उठाकर श्मशान घाट पहुंच गए। लेकिन कार्रवाई ना होने से नाराज रिश्तेदार शव को श्मशान घाट से चौराहे पर ले आए और प्रदर्शन शुरू कर दिया।

नारेबाजी करते हुए विपक्षियों की गिरफ्तारी की मांग करने लगे। जिसके बाद मौके पर कई थानों की फोर्स बुलाई गई। तहसीलदार के आश्वासन के बाद परिजन और मोहल्लेवासी शांत हुए। पुलिस की निगरानी में अंतिम संस्कार किया गया।

यह है पूरा मामला

पूरा मामला मोहम्मदपुर खाला थाना क्षेत्र के नगर पंचायत बेलहरा के नेतपुरवा वार्ड का है। 16 जून को उमराव और दिलीप में मारपीट हो गई थी। जिसमें दिलीप (35) गंभीर रूप से घायल हो गया था। उसका उपचार लखनऊ के निजी अस्पताल में चल रहा था। इलाज के दौरान सोमवार को दिलीप की मौत हो गई। पोस्टमार्टम के बाद देर शाम शव घर पहुंचा। पुलिस ने शव का अंतिम संस्कार करने के लिए दबाव बनाया। परिजन कार्रवाई पर अड़े रहे तो शव लेकर घाट पहुंच गए।

तहसीलदार के समझाने पर माने परिजन

पुलिसकर्मियों की इस हरकत पर परिजन और मोहल्लेवासी उग्र हो गए। शव को मुख्य मार्ग पर रखकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। हंगामे को देखते हुए फतेहपुर और मोहम्मदपुर खाला थाने की फोर्स मौक पर पहुंची। तहसीलदार के समझाने के बाद परिजन माने और अंतिम संस्कार किया गया।

खबरें और भी हैं...