पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुख्तार को सुभासपा से टिकट लड़वाएंगे राजभर:एक दिन पहले बांदा जेल में मिले, बोले- मुख्तार की इतनी हैसियत, अपने बल पर जीत सकते चुनाव

बांदा9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजभर ने मुख्तार अंसारी से मुलकात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्तार से मेरा 19 साल का राजनीतिक साथ है। - Money Bhaskar
राजभर ने मुख्तार अंसारी से मुलकात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्तार से मेरा 19 साल का राजनीतिक साथ है।

बांदा जेल में बंद माफिया मुख्तार अंसारी से सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओमप्रकाश राजभर की मुलाकात के बाद सूबे के सियासी गलियारों में सुगबुगाहट बढ़ गई है। माना जा रहा है कि 2022 के विधानसभा चुनाव को लेकर यह मुलाकात हुई।

बुधवार को ओम प्रकाश राजभर ने मुख्तार अंसारी से मुलकात पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि मुख्तार से मेरा 19 साल का राजनीतिक साथ है। भाजपा माफिया कहती है, लेकिन यूपी सरकार में एक तिहाई लोग अपराधी हैं। मैं व्यक्तिगत तौर पर उनका समर्थन करूँगा।

मुख्तार की इतनी हैसियत है कि वो अपने बल पर चुनाव जीत सकते हैं। वो जहां से भी चुनाव लड़ने का फैसला करेंगे, अपनी पार्टी के टिकट पर चुनाव लड़वाऊंगा। कहा कि गरीब मुख्तार अंसारी को अपना मसीहा मानते हैं।

जेल में एक घंटे तक की चुनाव पर चर्चा

मंगलवार को सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने मुख्तार अंसारी से मुलाकात की थी। उनके साथ मुख्तार का बेटा अब्बास अंसारी भी था। जेल से वापस लौटते समय पुलिस ने उनकी गाड़ियों की चेकिंग की। जिस पर वो काफी नाराज हुए।

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार मेरा कत्ल करवा सकती है या फिर ऐसी ही किसी चेकिंग में मेरी गाड़ी में चरस गांजा रख कर मुझे फंसा सकती है। बीजेपी ये इसलिए कर रही है क्यूंकि यूपी में उसका खेल खत्म हो गया है और बंगाल के बाद अब उत्तर प्रदेश में खदेड़ा होगा।