पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बांदा में "अग्निपथ योजना" के खिलाफ विरोध प्रदर्शन:कांग्रेस जिलाध्यक्ष बोले- 4 साल के बाद युवाओं का भविष्य अंधकार में होगा, यह योजना युवाओं के खिलाफ

बांदा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

केंद्र सरकार की सेना में युवाओं की भर्ती के लिए शुरू की गई "अग्निपथ योजना" का कांग्रेस लगातार विरोध कर रही है। देश की सुरक्षा और युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताते हुए कांग्रेस पार्टी आज प्रदेश के सभी जिलों के सभी विधानसभा क्षेत्रों में प्रदर्शन कर रही है। कांग्रेस की मांग है कि सरकार "अग्निपथ योजना" को वापस ले या फिर इसमें संशोधन करे।

बांदा में भी कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष सहित कार्यकर्ताओं ने कलेक्ट्रेट परिसर में प्रदर्शन किया। राष्ट्रपति के नाम डीएम को ज्ञापन भी सौंपा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कहा, केंद्र सरकार के द्वारा देश के युवाओं का भविष्य गर्त में धकेलने के लिए "अग्निपथ योजना" लाई गई है, जिसका कांग्रेस पार्टी विरोध करती है।

कार्यकर्ताओं ने कहा, सेना के लिए ज्यादातर किसानों के बच्चे ही तैयारी करते हैं। केंद्र सरकार देश के युवाओं को रोकने के लिए व उनका भविष्य खराब करने के लिए इस तरह की योजना लाई है। सरकार द्वारा इस योजना को लागू करके युवाओं को 27 वर्ष की उम्र में ही बेरोजगार कर दिया जाएगा। इस उम्र में जब युवा रोजगार की तलाश में होता है तब वह बेरोजगार होगा।

"अग्निपथ योजना" में 4 साल के बाद बच्चों का भविष्य अंधकार में चला जाएगा, जिससे देश में युवाओं की बेरोजगारी बढ़ेगी। उन्होंने कहा, 4 साल की "अग्निपथ योजना" से रिटायर होने वाले युवा बेरोजगार हो जाएंगे, जब उनके कंधों में घर परिवार की बड़ी जिम्मेदारी होगी। केंद्र सरकार इससे पहले किसानों के लिए काले कानून लेकर आई। बड़ी जद्दोजहद के बाद किसान कानून वापस लेना पड़ा।

"अग्निपथ योजना" न तो देश हित में है और न ही युवाओं के हित में। इसे लागू नहीं होना चाहिए। यह एक अजीब अपरिपक्व योजना है, जो युवाओं के खिलाफ है। इस तरह की योजना युवाओं को आगे जाने से रोकती है। "अग्निपथ योजना" को केंद्र सरकार द्वारा वापस लिया जाए, जिसके लिए कांग्रेस पार्टी हर तहसील अपना विरोध दर्ज करा रही है।