पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

निरक्षर महिला ग्राम प्रधानों को बनाया जाएगा साक्षर:बांदा DM ने 9 प्रधानों को सौंपा बैग, पढ़ाने के लिए आंगनबाड़ी और शिक्षामित्रों की लगाई ड्यूटी

बांदाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
निरक्षर महिला ग्राम प्रधानों को बनाया जाएगा साक्षर। - Money Bhaskar
निरक्षर महिला ग्राम प्रधानों को बनाया जाएगा साक्षर।

बांदा जिले में मिशन शक्ति अभियान-3 के अंतर्गत जिलाधिकारी ने अनोखी पहल शुरू की है। जिलाधिकारी ने कहा कि निरक्षर महिला प्रधानों को साक्षर बनाने के लिए अब उन्हें प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए आंगनबाड़ी और शिक्षामित्रों के द्वारा उन्हें घरों पर पढ़ाया जाएगा। बालिकाओं की सुरक्षा सम्मान के प्रति योजनाएं चलाई जा रही हैं। इस मिशन शक्ति अभियान द्वारा निरक्षर महिला प्रधानों को साक्षर बनाने की पहल की जा रही है।

शिक्षा के क्षेत्र में किया जा रहा कार्य

जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में लगातार शिक्षा के क्षेत्र में कार्य किया जा रहा है। इसके पहले भी 58 अधिकारियों ने एक-एक स्कूल को गोद लिया है। 58 ग्राम प्रधानों ने भी इसी तरह स्कूलों को गोद लिया है। ये लोग माह में कम से कम दो बार उनके स्कूल और गांव जाकर पठन-पाठन के बारे में जानकारी देंगे।

9 महिला ग्राम प्रधानों को सौंपा बैग

इसकी सूचना बेसिक शिक्षा अधिकारी और जिला पंचायत राज अधिकारी के माध्यम से जिलाधिकारी को उपलब्ध कराई जाएगी। इसी क्रम में आज एक कार्यशाला का आयोजन किया गया, जिसमें 9 महिला ग्राम प्रधानों को बैग वितरण किए गए। ताकि वह अपने आसपास के क्षेत्र में पाठशाला लगाकर के लोगों में जागरूकता फैलाएं और खुद में साक्षर हो सकें।