पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Business News
  • Local
  • Uttar pradesh
  • Balrampur
  • Voting Boycott Warning In Balrampur: The Construction Is Not Happening Even After The Land Worship, The Villagers Said If The Bridge Is Not Built, They Will Not Vote

बलरामपुर में मतदान बहिष्कार की चेतावनी:भूमि पूजन के बाद भी नहीं हो रहा निर्माण, ग्रामीण बोले- पुल न बना तो वोट नहीं देंगे

बलरामपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुल का काम शुरू न होने से ग्रामीणों में आक्रोश है। - Money Bhaskar
पुल का काम शुरू न होने से ग्रामीणों में आक्रोश है।

उत्तर प्रदेश में 2022 का चुनाव जैसे-जैसे करीब आ रहा है, सियासत का दौर और मतदाताओं का गुस्सा भी सामने नजर आ रहा है। ऐसा ही कुछ बलरामपुर के तराई क्षेत्र में देखने को मिला। यहां बीते 13 अक्टूबर को 1 करोड़ 65 लाख 98 हजार की लागत से बनने वाले सेमरी खैराह्निया गंजड़ी समय माता मंदिर के निकट पुल का शिलान्यास तुलसीपुर विधानसभा सीट से विधायक कैलाश नाथ शुक्ला ने किया था, लेकिन 1 माह बीतने के बाद भी पुल का निर्माण शुरू नहीं हुआ। जिससे नाराज ग्रामीणों ने 2022 के विधानसभा चुनाव में मतदान बहिष्कार की चेतावनी दी है। ग्रामीणों का कहना है कि अगर पुल न बना तो वोट नहीं देंगे।

बताया जा रहा है कि आजादी से अब तक जिले का तराई क्षेत्र विकास से अछूता रहा है। यहां सड़क पुल नहर व बाँधो की मरम्मत और उसके नए निर्माण के लिए ग्रामीणों को काफी मशक्कत करनी पड़ती है। ग्रामीणों को लगातार जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों के दफ्तरों पर एड़ियां रगड़नी पड़ती है। उसके बाद कहीं किसी एक काम की शासन से संस्तुति मिल पाती है।

13 अक्टूबर को विधायक ने शिलान्यास किया था।
13 अक्टूबर को विधायक ने शिलान्यास किया था।

बारिश में डूब जाता है रास्ता

सेमरी खैराह्निया रोड पर बनने वाले पुल जो की गंजड़ी समय माता मंदिर तक को जोड़ता है और यह पुल आधा दर्जन से अधिक गांव की लाइफलाइन माना जाता है। बरसात के दिनों में बरसात का पानी हो या पहाड़ी नालों से आया हुआ बाढ़ का पानी इस रास्ते को पूरी तरह जल मग्न कर देता है। जिससे लोगों का आवागमन बंद हो जाता है ऐसे में दर्जन भर ऐसे गांव होते हैं जिनका संपर्क ही मुख्यालय से कट जाता है। जिसके लिए आए दिन इस पुल की मांग ग्रामीणों द्वारा की जाती थी।

एक महीने पहले हुआ था भूमि पूजन

तुलसीपुर विधानसभा सीट से विधायक कैलाश नाथ शुक्ला द्वारा मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ व तमाम वरिष्ठ अधिकारियों से पत्राचार के बाद इस पुल के निर्माण की संस्तुति मिल गई है। जिसकी लागत 1 करोड़ 65 लाख 98 हजार है। तुलसीपुर विधायक कैलाश नाथ शुक्ला ने आनन-फानन में 13 अक्टूबर 2021 को भूमि पूजन का शिलान्यास भी कर दिया और आश्वासन दिया था कि जल्द ही इस पुल का निर्माण शुरू हो जाएगा लेकिन आज एक माह बीतने के बाद भी उक्त पुल का निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका है। जिससे ग्रामीणों में खासा आक्रोश है।

इन गांवों के लोगों ने प्रदर्शन किया

मैनहवा, नारायणपुर, लैबुढ़वा, गंजड़ी, भुजेहरा, खैरानिया, उदईपुर, टेढ़ीप्रास जैसे तमाम गांव है जिसके ग्रामीणों ने एक सुर में पुल निर्माण की मांग की है और पुल निर्माण विधानसभा चुनाव से पहले न होने पर आने वाले 2022 के चुनाव में मतदान के बहिष्कार का भी चेतावनी दी है।

विधायक बोले-जल्द शुरू होगा काम

तुलसीपुर विधानसभा सीट से विधायक कैलाश नाथ शुक्ला ने बताया कि तमाम प्रयास के बाद उक्त पुल के निर्माण की संस्तुति प्राप्त हो गई है। मैंने एक माह पहले शिलान्यास कर पुल निर्माण के कार्य को प्रारंभ कराने का प्रयास किया था। लेकिन किसी कारणवश पुल निर्माण का कार्य शुरू नहीं हो सका है। जल्द ही पुल निर्माण का कार्य शुरू किया जाएगा जिससे ग्रामीणों को हर संभव राहत मिल सकेगी।

खबरें और भी हैं...