पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बलरामपुर में सलमान खुर्शीद का फूंका पुतला:कांग्रेस नेता की विवादित किताब पर आक्रोश, विश्व हिंदू महासंघ ने किया प्रदर्शन

बलरामपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बलरामपुर में सलमान खुर्शीद का फूंका पुतला। - Money Bhaskar
बलरामपुर में सलमान खुर्शीद का फूंका पुतला।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद द्वारा लिखी गई किताब ‘Sunrise over Ayodhya Nationhood in our Times’ को लेकर अब पूरे देश में बवाल खड़ा हो गया। इस बवाल की आग बलरामपुर जिले तक पहुंच चुकी है। किताब में वर्णित आपत्तिजनक तथ्यों से आक्रोशित विश्व हिंदू महासंघ के पदाधिकारी और कार्यकर्ताओं ने आज अपर जिलाधिकारी से मुलाकात कर राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन सौंपा और नगर के भगवतीगंज चौराहे पर किताब के लेखक कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद का पुतला भी फूंका।

एडीएम को सौंपा ज्ञापन

विश्व हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष गंगा शर्मा की अगुवाई में दर्जनों की संख्या में विश्व हिंदू महासंघ के कार्यकर्ता जिला कलेक्ट्रेट पहुंचे और यहां कांग्रेस नेता एवं पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। उन्होंने सलमान खुर्शीद द्वारा लिखी गई विवादित पुस्तक ‘Sunrise over Ayodhya Nationhood in our Times’ को प्रतिबंधित करने की मांग करते हुए राष्ट्रपति को संबोधित ज्ञापन अपर जिलाधिकारी राम अभिलाष को सौंपा।

सलमान खुर्शीद का जलाया पुतला

आक्रोशित विश्व हिंदू महासंघ के कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों का गुस्सा यहीं शांत नहीं हुआ। उन्होंने कलेक्ट्रेट से निकलने के बाद नगर के सबसे व्यस्ततम चौराहे भगवतीगंज चौराहे पर इकट्ठा होकर कांग्रेस नेता और पूर्व कानून मंत्री सलमान खुर्शीद के पुतले को जलाया। इस दौरान विश्व हिंदू महासंघ के कार्यकर्ताओं ने कांग्रेस नेता के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

किताब पर लगाया जाए प्रतिबंध

विश्व हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष गंगा शर्मा ने बताया कि कांग्रेस नेता सलमान खुर्शीद ने जो किताब लिखी है, उसमें हिंदू संगठनों, साधु-संतों एवं सनातन धर्म को मानने वाले लोगों की तुलना जिहादी आतंकी संगठन आईएसआईएस एवं बोको हराम से की है। ऐसी पुस्तक को महज सामाजिक सौहार्द को बिगाड़ने के लिए लिखा गया है। जो सामाजिक दुष्प्रचार का हिस्सा बनेगी। ऐसी किताब को न सिर्फ भारत में अपितु पूरी दुनिया में प्रतिबंधित किया जाना आवश्यक है।

खबरें और भी हैं...