पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नुपूर और नवीन जिंदल को जेल भेजने की मांग:BJP की कार्रवाई से संतुष्ट नहीं विपक्षी दल, बलरामपुर से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

बलरामपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ज्ञापन सौंपते लोग। - Money Bhaskar
ज्ञापन सौंपते लोग।

बीजेपी नेता नुपुर शर्मा और नवीन जिंदल के द्वारा पैगंबर मोहम्मद साहब पर विवादित एवं आपत्तिजनक टिप्पणीं से नाराज़ धर्म गुरुओं ने नगर पालिका बलरामपुर अध्यक्ष प्रतिनिधि शाबान अली के साथ अपर जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर कार्रवाई की मांग की है। धर्म गुरुओं ने कहा कि भाजपा नेताओं की विवादित टिप्पणी से मोहसिन ए इंसानियत से श्रद्धा रखने वालों को गहरा आघात पहुंचा है। हमारी धार्मिक भावनाएं भी आहत हुई हैं।

टिप्पणी करने वालों कार्रवाई की मांग

आपको बता दें कि आज मुफ्ती ए शहर मौलाना मोहम्मद मसीह अहमद क़ादरी और मौलाना सय्यद अहमद रज़ा के संरक्षण तथा समाजसेवी शाबान अली की अगुवाई में एक प्रतिनिधिमंडल ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर एडीएम राम अभिलाष से मुलाक़ात की और ज्ञापन देकर भाजपा नेताओं की विवादित और आपत्तिजनक टिप्पणी पर रोष व्यक्त करते हुए कार्यवाही की मांग की।

राष्ट्रपति के नाम लिखा पत्र

राष्ट्रपति के नाम लिखित ज्ञापन में कहा गया कि भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा और दिल्ली प्रदेश के भाजपा प्रवक्ता नवीन कुमार जिंदल ने मोहसिने इंसानियत, पैगंबर ए इस्लाम मोहम्मद मुस्तफा सल्लाहु अलैहे वसल्लम के विरुद्ध आपत्तिजनक विवादित टिप्पणी से ना सिर्फ़ मुसलमानों के धार्मिक आस्था को ठेंस पहुंचाने का असंवैधानिक कृत्य किया है बल्कि देश के शांति प्रिय मुस्लिम समुदाय और इस्लाम धर्म के विरुद्ध नफ़रत फ़ैला कर हिंदोस्तान के धार्मिक सौहार्द के माहौल को ख़राब करने का भी कूटरचित प्रयास किया है जो निंदनीय है।

पार्टी की कार्रवाई से विपक्षी संतुष्ट नहीं

इस अवसर पर मुफ्ती ए शहर मौलाना मोहम्मद मसीह अहमद ने कहा कि पैगंबर ए इस्लाम ने शांतिदूत बन कर पूरी दुनिया में इंसानियत के पर्चम को बुलंद किया यही कारण है कि उन्हें मोहसिन ए इंसानियत कहा जाता है। बता दें कि भाजपा नेता नुपुर शर्मा और नवीन कुमार जिंदल को छः वर्षों के लिए पार्टी से निकाले जाने की सूचना सूत्रों द्वारा मिल रही है मगर मुस्लिम समुदाय के साथ ही विपक्षी राजनीतिक पार्टियां बीजेपी की इस कार्यवाही से संतुष्ट नही हैं और क़ानूनी कार्यवाही करते हुए जेल भेजने की मांग पर अड़े हैं। प्रतिनिधि मंडल की मांग है कि दोषियों को जेल भेजा जाए।

खबरें और भी हैं...