पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बलरामपुर में संभावित बाढ़ से पहले प्रशासन अलर्ट:बचाव को लेकर कार्य योजना तैयार, डीएम श्रुति ने तय की विभागीय अधिकारियों की जिम्मेदारियां

बलरामपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बलरामपुर जिला प्रशासन ने आगामी दिनों में संभावित बाढ़ (आपदा) से बचाव को लेकर विस्तृत कार्ययोजना तैयार कर ली है । बाढ़ से बचाव की तैयारी के तहत जिलाधिकारी श्रुति ने संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी भी तय कर दी है।

जिलाधिकारी श्रुति ने जानकारी देते हुए बताया कि मानसून ने दस्तक दे दी है । जिसके तहत संभावित बाढ़ के दौरान बचाव और राहत कार्य के लिए जनपद की तहसील बलरामपुर में 12, तुलसीपुर में 06 तथा उतरौला में 13 बाढ़ चौकियां बनाई गई हैं। इसके अलावा 19 राहत केन्द्र बनाए गए हैं। जिनमें तहसील बलरामपुर अन्तर्गत बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों में 07, उतरौला में 05 तथा तुलसीपुर में 07 राहत केन्द्र शामिल हैं ।

बाढ़ से बचाव के लिए नावों की तैनाती

बचाव कार्य के लिए बलरामपुर में 08, उतरौला में 10 तथा तुलसीपुर में 08 निजी नावों सहित 26 नावों की व्यवस्था पहले से करा ली गई हैं । इसके साथ ही तहसील बलरामपुर में 26 नाविकों, तुलसीपुर में 08 तथा उतरौला में 14 नाविकों को सूचीबद्ध किया गया है। जो आपात स्थिति में बचाव कार्य में लगाए जाएगें ।

डीएम ने सड़क पर पैदल मार्च कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।
डीएम ने सड़क पर पैदल मार्च कर सुरक्षा व्यवस्था का जायजा लिया।

तटबंधों पर सुरक्षा के व्यापक इंतजाम

डीएम ने बताया कि जनपद के तटबंधों राजघाट, बलरामपुर-भड़रिया तटबंध, एमएलटीडी तटबंध, करमहना तटबंध, करमहना रिटायर्ड बांध, चैहत्तरखुर्द सुरक्षा तटबंध, पिपरहिया जुमनी तटबंध, खरझार तटबंध, इमलिया खादर तटबंध, फरूहवा तटबंध, राम नगर तटबंध, बिलोहा बनकसिया तटबंध, करमहना भोजपुर तटबंध, भगवानपुर तटबंध, बेलहा-चरनगहिया तटबंध, कोड़री घाट बायां-दायां गाइड बंध एवं अफलक्स बंध तथा निर्माणाधीन भोजपुर-शाहपुर तटबंध की सुरक्षा हेतु बाढ़ खण्ड के अधिकारियों को सख्त निर्देश दिए गए हैं ।

बाढ़ को देखते हुए पहले से ही सारी तैयारियां पूरी की जा रही हैं।
बाढ़ को देखते हुए पहले से ही सारी तैयारियां पूरी की जा रही हैं।

वर्तमान में 11 बाढ़ परियोजनाओं पर काम

जिलाधिकारी ने बताया कि बाढ़ से बचाव को लेकर वर्तमान में 11 बाढ़ परियोजनाओें पर काम किया जा रहा है। सुरक्षात्मक दृष्टि से जिला प्रशासन द्वारा तटबंधों पर 17 स्थल, नदी के किनारे जहां पर तटबंध नहीं हैं। वहां के 13 स्थल तथा नालों के पांच कटान वाले स्थलों को चिन्हित किया गया है । तहसील बलरामपुर अन्तर्गत ग्राम कल्यानपुर के बाढ़ प्रभावित 66 व्यक्तियों को विस्थापित करने के लिए भूमि क्रय करने हेतु शासन से बजट आवंटित करने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है।

बाढ़ से बचाव के लिए प्रशासन पहले से ही तैयारी कर रहा है।
बाढ़ से बचाव के लिए प्रशासन पहले से ही तैयारी कर रहा है।

चिकित्सा व्यवस्था की तैयारी भी परखी

चिकित्सीय सुविधाओं के बारे में जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि जिले में 92 चिकित्सक, 118 पैरा मेडिकल स्टाफ, 357 एएनएम, 1916 आशाओं सहित 10 मोबाइल चिकित्सा दल उपलब्ध है । तैयारी के दृष्टिगत 18 चिकित्सकों, 64 पैरामेडिकल स्टाफ तथा 64 स्वास्थ्य कर्मियों को प्रशिक्षित कराया गया है । मुख्य चिकित्साधिकारी को सभी आवश्यक दवाओं की उपलब्ध्धता हर हाल में सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए गए हैं।

संभावित बाढ़ के दौरान बचाव और राहत कार्य के लिए जनपद की तहसील बलरामपुर में 12, तुलसीपुर में 06 तथा उतरौला में 13 बाढ़ चौकियां बनाई गई हैं।
संभावित बाढ़ के दौरान बचाव और राहत कार्य के लिए जनपद की तहसील बलरामपुर में 12, तुलसीपुर में 06 तथा उतरौला में 13 बाढ़ चौकियां बनाई गई हैं।
खबरें और भी हैं...