पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

इंटर में संजना, हाईस्कूल में दिव्यांत टॉपर:बलिया में 10वीं का 84.28 प्रतिश और 12वीं का 72.75 फीसदी रिजल्ट

बलिया3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
12वीं की टापर संजना को मिठाई खिलाते पिता। - Money Bhaskar
12वीं की टापर संजना को मिठाई खिलाते पिता।

माध्यमिक शिक्षा परिषद ने शनिवार को हाईस्कूल और इंटरमीडिएट परीक्षा का परिणाम घोषित कर दिया। बलिया में हाई स्कूल में कुल 84.28 प्रतिशत तथा इंटरमीडिएट में 72.75% परीक्षार्थी उत्तीर्ण हुए हैं। हाईस्कूल की परीक्षा में 94.33 प्रतिशत अंकों के साथ राष्ट्रीय इंटर कॉलेज बैरिया के दिव्यांत प्रताप सिंह ने जिले में पहला स्थान हासिल किया है। 93.83% अंक के साथ स्वामी सहजानंद इंका गोविन्दपुर भरौली के समीर खरवार दूसरे व 93.67% अंक के साथ महर्षि वाल्मीकी विद्या मंदिर, काजीपुरा की अंकित यादव तीसरे स्थान पर हैं।
इसी प्रकार इंटरमीडिएट की परीक्षा में 91.80 प्रतिशत अंक के साथ स्वामी सहजानंद इंका गोविन्दपुर भरौली की छात्रा संजना कुमारी ने जिले में पहला स्थान हासिल किया है। जजौली की श्वेता ने 88.60 प्रतिशत के साथ दूसरा और इंका गौरापतोई की विनीता यादव ने 87.80 प्रतिशत अंक के साथ तीसरा स्थान हासिल किया है।
10वीं में छात्रों का रहा दबदबा
जिले में हाईस्कूल के परीक्षा परिणाम में लड़कों ने लड़कियों को पीछे छोड़ दिया है। हालांकि अंतर काफी कम है। कुल पास हुए परीक्षार्थियों में 84.38 प्रतिशत लड़े हैं, जबकि लड़कियों का प्रतिशत 84.14 है। इसी प्रकार टॉप टेन में भी लड़कों ने ही बाजी मारी है। हाईस्कूल में जिले के टॉप टेन में कुल 17 परीक्षार्थी हैं। इनमें 10 लड़के हैं, जबकि सात लड़कियां हैं। यही नहीं टॉप थ्री में सिर्फ लड़कों ने ही जगह बनायी है।

हाईस्कूल के टापर दिव्यांत को मिठाई खिलाते माता-पिता।
हाईस्कूल के टापर दिव्यांत को मिठाई खिलाते माता-पिता।

10वीं में 64,840 बच्चों ने दी थी परीक्षा
10वीं में 76 हजार 171 छात्र-छात्राओं ने पंजीकरण कराया था। इनमें से 11 हजार 287 बच्चों ने परीक्षा छोड़ दी थी। जबकि 44 परीक्षार्थी रेस्टीकेट हुए थे। इस तरह 64 हजार 840 छात्रों ने परीक्षा दी थी। इनमें 54 हजार 646 बच्चे पास हुए हैं। इनमें 31 हजार 884 लड़के व 22 हजार 762 लड़कियां पास हुई हैं।

12वीं में 57,794 ने दिया था एग्जाम
जिले में इंटर की परीक्षा में 64 हजार 754 परीक्षार्थी पंजीकृत थे। इसमें 38 हजार 529 छात्र तथा 26 हजार 225 छात्राएं थीं। इनमें से 57 हजार 794 परीक्षा में शामिल हुईं। शनिवार को परिणाम आया तो 42 हजार 43 बच्चे पास हुए। इनमें 22 हजार 112 लड़के व 19 हजार 931 लड़कियां हैं। लड़कों के पास होने का प्रतिशत 65.93 है जबकि 82.18 प्रतिशत लड़कियां पास हुई हैं। टॉप थ्री स्थानों पर बेटियों का कब्जा है। टॉप टेन में कुल 12 मेधावी हैं। इनमें छह लड़के व छह लड़कियां हैं।