पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अग्निपथ योजना का विरोध:विरोध के चलते व्यवसाय प्रभावित, दुकानों पर ग्राहक नहीं होने से व्यापारियों में निराशा

बेल्थरा रोड2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अग्निपथ को लेकर चारों तरफ हो रहे आंदोलन के चलते ट्रेन विशेषकर सवारी गाड़ियों के बंद होने से बाजार में सन्नाटा पसरा हुआ है। ग्राहकों के बाजार में नहीं आने से व्यवसाय प्रभावित हो रहा है। जिससे व्यापारियों में निराशा की स्थिति है। उनका कहना है कि अभी बरसात में वैसे ही व्यवसाय प्रभावित रहता है परंतु इस आंदोलन ने अभी, से व्यापारियों का बुरा हाल कर दिया है।

विरोध से क्षेत्र के व्यवसायियों पर काफी बुरा असर
अग्निपथ भर्ती योजना के देश में हो रहे विरोध से क्षेत्र के व्यवसायियों पर काफी बुरा असर पड़ा है। उपद्रवियों द्वारा आगजनी के चलते ट्रेनों का संचालन बंद होने से नगर व क्षेत्र में लोगों का आवागमन कम हो गया है। आंदोलनकारियों के चलते चारों तरफ पुलिस की सक्रियता व उनके वाहन के बजते हूटर से लोग अभी भी अनहोनी को लेकर घरों से निकलने में डर रहे हैं। जिससे नगर में लोगों का आवागमन काफी कम हो गया है। जिसका व्यवसाय पर काफी बुरा असर पड़ रहा है। इसको लेकर व्यापारियों में निराशा की स्थिति है।

डिस्पोजल थाली आदि के व्यवसायी कृष्ण मोहन गुप्ता कहते हैं कि आंदोलन के चलते गांव के लोगों का बाजार में आना काफी कम हो चुका है। इससे ठेले, खोमचे आदि की दुकानों पर ग्राहक नहीं आ रहे। जिसके चलते डिस्पोजल समानों की बिक्री पर काफी असर पड़ रहा है।

कपड़ा व्यवसायी अजय जायसवाल अग्निपथ योजना के विरोध को देखते हुए काफी आहत नजर आते हैं। कहते हैं कि इसके विरोध के चलते जहां बाजार में ग्राहकों का आगमन नहीं हो रहा वहीं सरकारी सम्पत्ति फूंकने की स्थिति में इसका भी बोझ आम आदमी पर ही पड़ेगा। ऐसे में व्यवसायियों को हर हाल में नुक्सान पहुंचना ही है।

रजाई गद्दा के व्यवसाई सत्येन्द्र कुमार गुप्ता भी अग्निपथ योजना के विरोध में हिंसक प्रदर्शन से नाराज नजर आते हैं। कहते हैं कि हिंसक प्रदर्शन से जहां पूरा देश प्रभावित हो रहा है तो व्यवसाई कैसे अछूता रह सकता है। स्वर्ण व्यवसाई प्रवीण कुमार वर्मा भी व्यवसाय मंदा होने पर दुःख व्यक्त करते हैं। कहते हैं कि बरसात में वैसे भी व्यवसाय ठप रहता है। परन्तु अभी से फांका मारने की स्थिति आ गई है।

खबरें और भी हैं...