पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अवैध लाल बालू भंडारण मामले में 58 लोगों पर मुकदमा:बैरिया में बिना परमिट के चल रहा था धंधा, बिहार से लाई जाती थी खेप

बैरिया, बलियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
लाल बालू का किया गया अवैध भंडारण। - Money Bhaskar
लाल बालू का किया गया अवैध भंडारण।

बैरिया में कई वर्षों से अवैध लाल बालू का धन्धा फलफूल रहा है। समय--समय पर छोटी मोटी कार्रवाई होती रही है। लेकिन आज प्रशासन ने पहली बार अवैध लाल बालू को लेकर बड़ी कार्रवाई की है। खनन अधिकारी जितेश कुमार ने बैरिया थाने में विभिन्न गांवों के 58 लोगों के खिलाफ अवैध तरीके से अपनी--अपनी जमीन पर लाल बालू का भंडारण करने पर मुकदमा दर्ज कराया है। बैरिया पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

नवीन मंडी में रखवाया था 2,000 घन मीटर लाल बालू

बिहार के कोईलवर से लाल बालू जल मार्ग व सड़क मार्ग से काफी दिनों से बैरिया मे आता रहा है। लाल बालू का खनन उत्तर प्रदेश में नहीं होता है। इसके बावजूद भी तहसील प्रशासन की ओर से अवैध भंडारण करने वालाें पर कार्रवाई नहीं की जा रही थी। प्रशासन की बिना अनुमति के कई स्थानों पर लाल बालू के भण्डारण को देखते हुए तत्कालीन उपजिलाधिकारी बैरिया राहुल कुमार यादव ने 2,000 घन मीटर लाल बालू को उठाकर सोनबरसा स्थित नवीन मंडी में रखवाया था। जिसकी जांच खनन अधिकारी कर रहे थे।

क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार मिश्र।
क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार मिश्र।

जांच के बाद की कार्रवाई

खनन अधिकारी ने जांच में चांद दियर, टोला रिशाल राय, बहुआरा, भवन टोला, रामपुर कोड़रहा, कोड़रहा नौबरार, दलजीत टोला आदि स्थानों पर बिना परमिट के लाल बालू का भंडारण पाया था। जिसके बाद इन गांवों के 58 लोगों पर अवैध तरीके से लाल बालू भंडारण की प्राथमिकी दर्ज कराई है। एसएचओ धर्मवीर सिंह ने बताया कि मामले की विवेचना चल रही है। जांच पूरी होते ही संबंधित आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई होगी। क्षेत्राधिकारी अशोक कुमार मिश्र ने बताया कि जिन लोगों ने बिना परमिट के लालबालू का भंडारण किया था। उन पर प्राथमिकी दर्ज हुई है, विवेचना के दौरान कुछ और भी लोग प्रकाश में आ सकते हैं।

खबरें और भी हैं...