पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बाँसडीह के सीएचसी रेवती में सुविधाओं का अभाव:टेक्नीशियन होने पर भी एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड मशीन नहीं, एक परमानेंट चिकित्सक के सहारे चल रहा काम

बाँसडीह, बलियाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सीएचसी का फाइल फोटो। - Money Bhaskar
सीएचसी का फाइल फोटो।

बलिया के बांसडीह तहसील अन्तर्गत रेवती स्थित सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र पर सुविधाओं का अभाव है। जिसकी वजह से मरीजों को विभिन्न सुविधाओं से वंचित रहना पड़ रहा है। नगर रेवती सहित आस-पास के दर्जनों ग्राम सभाओं की दो लाख से अधिक आबादी का सीधा जुड़ाव सीएचसी रेवती से है। सुविधाओं के अभाव में 30 बेड वाले सीएचसी के चिकित्सकों को एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड के लिए जिला चिकित्सालय रेफर करना पड़ रहा है।

पीएचसी के डाक्टर को किया अटैच

तत्कालीन सीएचसी अधीक्षक डा.धर्मेन्द्र कुमार का स्थानांतरण होने तथा इससे पहले डा.राहुल कुमार के चले जाने के बाद सीएचसी पर चिकित्सकों का आभाव हो गया है। सीएचसी पर नये अधीक्षक डा.रोहित रंजन ही परमामेन्ट चिकित्सक के रूप में बचे हैं। आलम यह हो गया है कि न्यू पीएचसी भोपालपुर पर तैनात डा.जसवन्त कुमार को सीएचसी से अटैच कर किसी तरह काम चलाया जा रहा है। वहीं, आरबीएसके के दो चिकित्सक सीएचसी पर हैं। दो आयुष चिकित्सक भी हैं, जिनकी ड्यूटी सप्ताह में तीन दिन ही यहां रहती है। अब सिर्फ एक परमानेन्ट चिकित्सक के सहारे सीएचसी का संचालन कैसे संभव हो पाएगा।

सीएचसी में सुविधाओं के अभाव को लेकर क्षेत्रीय लोगों ने दी जानकारी।
सीएचसी में सुविधाओं के अभाव को लेकर क्षेत्रीय लोगों ने दी जानकारी।

नर्सिंग स्टाफ की भी कमी

सीएचसी पर एक्स-रे टेक्निशियन की तैनाती तो है, लेकिन सीएचसी पर आज तक एक्स-रे मशीन नहीं लगी। अल्ट्रासाउंड मशीन, सीएचसी लायक पैथालाजी, नर्सिंग स्टाफ की सीएचसी पर कमी है। जिसकी वजह से एक्स-रे व अल्ट्रासाउंड आदि के लिए मरीजों को आर्थिक नुकसान उठाते हुए जिला चिकित्सालय जाना पड़ता है।

सीएचसी के अनुरूप सुविधाएं नहीं

वहीं, बाल रोग विशेषज्ञ, हड्डी रोग विशेषज्ञ सहित विभिन्न रोगों के विशेषज्ञ चिकित्सकों व नर्सिंग स्टाफ के साथ सुविधाओं का विस्तार किए जाने की मांग ग्रामीणों ने की है। समाजसेवी अमित पाण्डेय"पप्पू", शैलेन्द्र सिंह, पप्पू केन श्री, प्रतिवेन्द्र तिवारी का कहना है कि सीएचसी पर जो सुविधाएं मुहैया हैं। वह पीएचसी की सुविधाओं से भी कम हैं। सीएचसी पर सीएचसी के अनुरूप सुविधाएं उपलब्ध कराई जानी चहिए। ताकि क्षेत्र के ज्यादा से ज्यादा मरीजों को समुचित इलाज के लिए किसी अन्य जगह पर न जाना पड़े।

खबरें और भी हैं...