पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैसरगंज में रेवली-आदमपुर तटबन्ध का डीएम ने किया निरीक्षण:निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने बाढ खण्ड के अभियन्ताओं और तहसील प्रशासन को पूरे तटबन्ध की सतर्क निगरानी के दिए निर्देश

कैसरगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
निरीक्षण के दौरान चरवाहे से बात करते हुए। - Money Bhaskar
निरीक्षण के दौरान चरवाहे से बात करते हुए।

तहसील कैसरगंज अन्तर्गत स्थित रेवली-आदमपुर तटबन्ध की बाढ़ से सुरक्षा हेतु रू. 208.20 लाख की लागत से संचालित कटान निरोधक कार्य (परक्यूपाइन) स्थापना कार्य का जिलाधिकारी डॉ. दिनेश चन्द्र ने औचक निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने बाढ खण्ड के अभियन्ताओं तथा तहसील प्रशासन को निर्देश दिया कि पूरे तटबन्ध की सतर्क निगरानी की जाये और तटबन्ध के संवेदनशील और अतिसंवेदनशील स्थानों का चिन्हांकन कर सुरक्षा की दृष्टि से सभी आवश्यक प्रबन्ध किये जायें।

अभियंताओं को तटबन्धों की सुरक्षा के दिए गए निर्देश

अभियंताओं को यह भी निर्देश दिया गया कि तटबन्धों की सुरक्षा के दृष्टिगत अपेक्षित सामग्री का प्रबन्ध ऐसे उपयुक्त स्थानों पर कराया जाये ताकि किसी भी आपात स्थिति में उसको गंतव्य तक पहुंचाए जाने में कोई समस्या न आये। तटबन्ध के निरीक्षण के दौरान मौके पर मौजूद ड्रेनेज खण्ड के अधिशाषी अभियंता शोभित कुशवाहा, सहायक अभियन्ता आर.के. सिंह व अवर अभियन्ता मोहित कुमार से जिलाधिकारी ने निर्माण कार्य के तकनीकी पहलुओं के बारे में जानकारी प्राप्त करते हुए निर्देश दिया कि चल रहे कार्यों को निर्धारित मानक व गुणवत्ता के साथ बरसात से पूर्व पूर्ण कर लिया जाय।

निरीक्षण के समय अभियंताओं से बात करते हुए।
निरीक्षण के समय अभियंताओं से बात करते हुए।

चरवाहों को बुलाकर डीएम ने पूछा हालचाल

डीएम डॉ. चन्द्र ने कहा कि इस क्षेत्र में स्थित दोनों तटबन्ध बाढ़ से बचाव में लाइफ लाइन की भूमिका निभाते हैं। इसलिए सभी जिम्मेदार अधिकारी तटबन्धों की सुरक्षा़ को सुनिश्चित बनायें। जिलाधिकारी डॉ. चन्द्र ने तटबन्ध के निरीक्षण के दौरान मौजूद ग्रामवासियों से क्षेत्र की भौगोलिक स्थिति, संभावित बाढ़ के दौरान प्रभावित होने वाले क्षेत्रों तथा उनकी खेती किसानी के बारे में भी जानकारी प्राप्त करते हुए सम्बन्धित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिये। निरीक्षण के समय घाघरा नदी की कछार में तपती दोपहर में अपने पशुओं को चरा रहे चरवाहों को डीएम ने अपने पास बुलाकर उनका हालचाल जाना तथा धूप से बचाव हेतु गुड़ खिलाया।

डीएम ने बच्चों को गुड़ खिलाया

डीएम ने आसपास मौजूद बच्चों से भी मुखातिब होते हुए उनके पठन-पाठन तथा उनकी दिनचर्या के बारे में जानकारी प्राप्त की तथा बच्चों को भी गुड़ खिलाया। डीएम डॉ. चन्द्र ने बच्चों को हिदायत दी कि पूरे मन के साथ शिक्षा ग्रहण करें तथा अपने लिए बड़ा लक्ष्य निर्धारित करते हुए उसे प्राप्त करने के लिए भगीरथ प्रयास करें। इस अवसर पर तहसीलदार कैसरगंज शिव प्रसाद भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...