पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कैसरगंज के सरकारी अस्पताल में खून की कमी:रक्त के अभाव में प्रसूता ने तोड़ा दम, प्रशासन पर लगे गंभीर आरोप

कैसरगंजएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

फखरपुर थाना क्षेत्र के दरियांवपुरवा गांव निवासी 27 वर्षीय रूपा देवी पत्नी मंगरु गर्भवती थी। प्रसव पीड़ा तेज होने पर सोमवार की सुबह उसे मेडिकल कॉलेज के महिला विंग लाया गया। यहां महिला को भर्ती करवाया गया। प्रसव के लिए चिकित्सकों ने ऑपरेशन के लिए कहा। परिजनों की सहमति पर चिकित्सक ने ऑपरेशन किया। महिला ने बच्ची को जन्म दिया। प्रसव के बाद प्रसूता को रक्तस्राव होने लगा। चिकित्सक ने परिजनों को खून लाने के लिए कहा।

प्रसूता के पति का आरोप है कि जब वह खून के लिए सीएमएस के पास गए तो उन्होंने सहयोग नहीं किया और खून दिलाने से इंकार कर दिया। आरोप है कि वह खून के लिए भटकते रहे। इसी दौरान सूचना मिली कि खून के अभाव में प्रसूता ने दम तोड़ दिया। प्रसूता की मौत के बाद परिजन व तीमारदार आक्रोशित हो उठे और अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा काटने लगे।

परिजनों ने अस्पताल से शव ले जाने से इंकार कर दिया। घटना की सूचना पुलिस को दी गई। सूचना पर नगर कोतवाली के पुलिसकर्मी मौके पर पहुंचे। पुलिस ने परिजनों को समझाया तब जाकर परिजन शव लेकर घर गए। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल रहा। परिजन अस्पताल प्रशासन की लापरवाही पर कोसते रहे।

प्रसूता के साथ आए तीमारदार ने फोन पर बातचीत के दौरान बताया कि प्रसूता को चिकित्सक ममता बसंत देख रही थीं। खून की कमी होने पर उन्होंने पर्ची पर लिखकर दिया कि बिना डोनेशन के खून दिया जाए। तीमारदार का आरोप है कि जब प्रसूता के पति सीएमएस के पास गए तो सीएमएस ने खून दिलाने से इंकार कर दिया। उसके कुछ ही देर बाद प्रसूता ने दम तोड़ दिया।

खबरें और भी हैं...