पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

बागपत में बालिका विद्यालय में लाखों के पेड़ काटे गए:छात्रावास बनाने के लिए काटे थे पेड़, अब दूसरी जगह बनाने जा रहे हैं हॉस्टल

बागपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
छात्रावास बनाने के लिए लाखों के पेड़ काटे गए। - Money Bhaskar
छात्रावास बनाने के लिए लाखों के पेड़ काटे गए।

बागपत में कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में लाखों की कीमत के खड़े आधा दर्जन से अधिक पेड़ों का अवैध कटान कर दिया गया। अब मामला उजागर हुआ तो विभागीय अफसर मामले को दबाने में जुटे हैं। वहीं लगातार शिकायतों के बावजूद वन विभाग के अफसर चैन की नींद सो रहे हैं।

कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय में छात्राओं के लिए तकरीबन 1.72 करोड़ की लागत से छात्रावास बनाया जाना है। जिसको उप्र सिडो द्वारा बनाया जाएगा। कुछ दिन पहले शासन से अनुमति मिलने के बाद लखनऊ से विभागीय कर्मचारी हॉस्टल की पैमाईश करने आए थे।

शिकायत के बाद भी नहीं हो रही कार्रवाई

विद्यालय परिसर में ही दूसरी जगह हॉस्टल बनाएं जाने की योजना बनाई जा रही है। वहां पर भी काफी संख्या में पेड़ खड़े हैं, जिनके कटान की तैयारी की जा रही है। लेकिन लगातार शिकायतों के बावजूद वन विभाग के अधिकारी गहरी नींद सो रहे हैं।

हमें मामले की जानकारी नहीं है

मामले में लखनऊ से हॉस्टल की पैमाईश करने आए अवर अभियंता दीपक गुप्ता का कहना है कि जिस जगह हॉस्टल बनाने की जगह पैमाईश की गई थी, उसके ऊपर हाईटेंशन लाइन आ गई थी। पेड़ नहीं झाड़िया काटी जा रही हैं।

जिला समन्वयक संगीता शर्मा ने बताया कि कोई अवैध कटान नहीं हुआ है। जिस जगह हॉस्टल बनाया जाएगा, वहां पर खड़े पेड़ों के मूल्यांकन के लिए वन विभाग से अनुमति मांगी गई है। मूल्यांकन के बाद पेड़ों का कटान कर नीलामी की प्रक्रिया की जाएगी। वन क्षेत्राधिकारी राजपाल का कहना है कि मेरे संज्ञान में मामला नहीं है। यदि अवैध कटान हुआ है, तो जांच कर कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...