पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बागपत में महिलाओं ने शराब ठेके में की तोड़फोड़:कहा- पति दारू पीकर करते हैं मारपीट, महिला उत्पीड़न बंद हो; वरना मोदी-योगी को नहीं देंगे वोट

बागपत7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में महिला ने ठेके के बाहर फेंकी शराब

बागपत के बड़का गांव में महिलाओं का गुस्सा एक शराब के ठेके पर फुट पड़ा। अपने पति से रोजाना मारपीट और घर का सामान बेचने से नाराज महिलाओं ने जमकर हंगामा किया और शराब के ठेके में रखी सभी बोतलें तोड़ दी। घंटों चले हंगामे के बाद सूचना पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह महिलाओं को शांत कराया। महिलाओं ने मांग उठाई है कि ठेके को बंद करवाया जाए। साथ ही यह भी धमकी दी है कि अगर महिलाओं पर अत्याचार बंद नहीं हुए तो मोदी-योगी को वोट नहीं देंगे।

आए दिन पति शराब पीकर करते हैं मारपीट

जिले के बड़ौत कोतवाली क्षेत्र में बड़का-हिलवाड़ी मार्ग पर एक देशी शराब का ठेका बना हुआ है। ठेके के मालिक का नाम रोहित तोमर बताया गया है। महिलाओं का आरोप है कि उनके पति आए दिन ठेके से शराब पीकर घर आते हैं और उसके बाद उनके साथ मारपीट करते हैं। कई बार घर के बाहर गली मोहल्ले में भी लोग तमाशा होता देखते हैं। पैसे न देने पर उनके पति घर का सामान बाजार में ले जाकर बेच डालते है ।

महिलाओं ने शराब ठेके पर बोला धावा
महिलाओं ने शराब ठेके पर बोला धावा

बच्चों के शराबी होने के चलते नहीं आएंगे रिश्ते

इतना ही नही उनके जवान लड़के भी अपने पिता की राह पर चल पड़े हैं। वो भी शराब पीने के आदि होते जा रहे हैं। उनके बच्चो के शराब पीने के चलते रिश्ते नही आएंगे, शादियां नही होगी। इसी बात से नाराज महिलाओं ने जमकर हंगामा किया। महिलाओं का कहना है कि यदि मोदी-योगी ने इस ओर ध्यान नहीं दिया। हम महिलाओं की बात को नहीं सुना तो आगामी चुनाव ने उन्हें इसका नतीजा भुगतना पड़ेगा। महिलाओं का कहना है कि गांव की कोई भी महिला योगी-मोदी को वोट नहीं करेंगी। महिलाओं पर अत्याचार बन्द होना चाहिए और शराब के ठेके बन्द होने चाहिए। हंगामे की सूचना मिलने पर पुलिस कई घंटों बाद मौके पर पहुंची और महिलाओं को समझाया-बुझाया।

खबरें और भी हैं...