पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

बागपत में हुई किसानों की महापंचायत:कहा- इस सरकार में किसान, मजदूर भूखमरी की कगार पर है; शुगर मिलों के दोहरीकरण की रखी बात

बागपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में हुई किसानों की महापंचायत में जुटी भीड़। - Money Bhaskar
बागपत में हुई किसानों की महापंचायत में जुटी भीड़।

बागपत में किसानों की समस्याओं को लेकर किसान, मजदूर संगठन ने महापंचायत की है। वहां किसानों की परेशानियों को लेकर चर्चा की गई है। कहा गया कि इस सरकार में किसान भूखमरी की कगार पर है। साथी ही चीनी मिलों पर लगभग सभी किसानों का बकाया है। इसके साथ ही 6 सूत्रीय मांगों को लेकर एक ज्ञापन एसडीएम बागपत को भी सौंपा गया ।

गांव वालों ने पदाधिकारियों का किया स्वागत

जिले के बागपत के हिसावदा गांव में गुरुवार को किसान मजदूर संगठन द्वारा किसानों की मूलभूत समस्याओं को लेकर एक पंचायत का आयोजन किया गया। पंचायत में आस पास क्षेत्र के सैंकड़ों ग्रामीणों सहित संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर पूरन सिंह भी पहुंचे। इस दौरान पंचायत में पहुंचने पर राष्ट्रीय अध्यक्ष ओर राष्ट्रीय प्रवक्ता ललित राणा का ग्रामीणों द्वारा उनका भव्य स्वागत भी किया गया। वहीं पंचायत को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष ठाकुर पूरन सिंह ने कहा कि आज प्रदेश और केंद्र की सरकार से किसान बेहद परेशान ओर भुखमरी के कगार पर पहुंच गया है। लेकिन यह सरकार पूरी तरह चुप्पी साधे हुए है। किसान का एक पैर खेत में ओर एक पैर बॉर्डर पर चल रहे धरने पर है। लेकिन उसके बाद भी किसानों से बात करने को सरकार तैयार नहीं है।

चौगामा नहर को तुरंत पानी पहुंचाने की भी रखी मांग

यदि यही हाल रहा तो आने वाले 2022 के चुनाव में इनको मुंह की खानी पड़ेगी। वहीं वक्ताओं ने बागपत जनपद की समस्याओं को लेकर बात रखी। वक्ताओं ने कहा की बागपत की शुगर मिलों पर करीब सभी किसानों का बकाया भुगतान बकाया है। जिससे किसान भुखमरी के कगार पर पहुंच गए है। उन्होंने शीघ्र ब्याज सहित बकाए गन्ने का भुगतान करने की मांग की। वहीं साथ ही उन्होंने बागपत शुगर मिल के जल्द से जल्द दोहरीकरण की भी मांग रखी। चौगामा नहर में पानी न आने से किसान बेहद परेशान है। चौगामा नहर को तुरंत पानी दिया जाए। जिससे जुड़े हुए सैंकड़ों गावो के किसानों की सिंचाई व्यवस्था दुरुस्त हो सके। साथ ही उन्होंने हिंडन नदी के आस पास के गांवों में उच्च श्रेणी की चिकित्सा व्यवस्था मुहैया कराए जाने की भी सरकार से मांग की। वही पंचायत में 16 सूत्रीय मांगों को लेकर एक ज्ञापन एसडीएम बागपत को भी सौंपा गया ।