पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Market Watch
  • SENSEX57491.51-2.62 %
  • NIFTY17149.1-2.66 %
  • GOLD(MCX 10 GM)486500.4 %
  • SILVER(MCX 1 KG)64467-0.29 %

बागपत में फर्जी CID गैंग गिरफ्तार:मेडिकल स्टोर संचालकों से की है करोड़ों की ठगी, कई गाड़ियों के काफिले; वॉकी-टॉकी से रहते थे लैस

बागपत2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बागपत में फर्जी CID गैंग के दो महिलाएं समेत पांच लोग गिरफ्तार। - Money Bhaskar
बागपत में फर्जी CID गैंग के दो महिलाएं समेत पांच लोग गिरफ्तार।

बागपत पुलिस ने एक ऐसे फर्जी सीआईडी अफसरों के गिरोह को पकड़ा है जो दिल्ली एनसीआर में मेडिकल स्टोर संचालकों से करोड़ों रूपए ठग चुका है। यह लोग कई गाड़ियों का काफिला, वॉकी-टॉकी से लैस होकर घटना को अंजाम देते थे। इस गिरोह में दो महिलाएं भी शामिल हैं। एक मेडिकल स्टोर संचालक से पैसे वसूलते वक्त पुलिस ने घेराबंदी कर इन्हें पकड़ लिया है।

दो लग्जरी गाड़ियों का था काफिला
जिले के खेकड़ा थाना पुलिस ने जिनको पकड़ा है। वह दिल्ली, गाजियाबाद, नोएडा, बागपत सहित कई जिलों में मेडिकल स्टोर संचालकों से छगी कर चुके हैं। दो लग्जरी गाड़ियों में दो महिला अफसर और साथ में सिक्योरिटी लेकर और CID आई कार्ड के साथ यह लोग दुकानों पर पहुंचते हैं। वहां इंग्लिश के कुछ शब्द बोलकर मेडिकल स्टोर संचालक को अपने जाल में फंसा लेते थे।

वसूली करते वक्त पकड़ा गया गैंग
इस गिरोह ने बागपत के खेकड़ा थाना इलाके के पूजा मेडिकल स्टोर के संचालक दीपक शर्मा की दुकान पर छापा मारा और डरा धमाककर पांच लाख की डिमांड की। घटते-घटते एक लाख में सौदा तय हो गया। दीपक ने कुछ रकम दे दी। जब बाकी रकम देने की बात आई। तो उससे पहले ही पुलिस ने पांचों को पकड़ लिया।

सिक्योरिटी अफसर को रोज मिलते थे 2 हजार
पुलिस ने फर्जी सीआईडी अफसर बनने वाली श्वेता शर्मा, कविता दांग, बाउंसर और सिक्योरिटी अफसर की भूमिका निभाने वाले यामीन और एक चालक अंकुश और बाबू की भूमिका में रहने वाले अनिल को पकड़ा है। पूछताछ में पता चला कि सिक्योरिटी अफसर को 2 हजार रूपए हर रोज मेहनताना मिलता था। पुलिस अब इस गैंग के बाकी सदस्यों का पता लगा रही है।