पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बडौत में डाक कर्मियों का फूटा गुस्सा:विभिन्न मांगों को लेकर डाकघर पर हंगामा, धरने पर बैठे

बडौत, बागपत6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बडौत में विभिन्न मांगों को लेकर अखिल भारतीय ग्रामीण डाक सेवक संघ के कर्मचारियों का गुस्सा फूट पडा। उन्होंने मुख्य डाकघर गांधी रोड पर पहुंचकर धरना-प्रदर्शन किया और जल्द मांग पूरी न होने पर कार्य बहिष्कार कर अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू करने की चेतावनी दी।

मण्डलीय सचिव बिजेन्द्र सिंह तोमर के नेतृत्व में काफी संख्या में डाक कर्मचारी गांधी रोड स्थित मुख्य डाकघर पर पहुंचे और धरने पर बैठ गए। उन्होंने कहा कि विभाग को निजीकरण करने के प्रयास किया जा रहा है, जोकि कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

हड़ताल की दी चेतावनी

उन्होंने कहा कि कई बार मांग करने के बावजूद भी ग्रामीण डाक सेवकों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा नहीं दिया जा रहा है। इससे कर्मचारियों में रोष पनपता जा रहा है। उन्होंने समस्या का शीघ्र समाधान न होने पर कार्य बहिष्कार कर अनिश्चित कालीन हड़ताल शुरू करने की चेतावनी दी। इस अवसर पर सतेन्द्र कुमार, अमरीश त्यागी, वर्षान्त तोमर, सागर तोमर, अभिषेक, संतराम आदि शामिल रहे।

ये है मांगें

  • ग्रामीण डाक सेवकों को सरकारी कर्मचारी का दर्जा देना।
  • समय अवधि में पदोन्नित देना।
  • ग्रुप इंश्योरेंस की सेवा देना
  • विभागीय निजीकरण के प्रस्ताव को तत्काल बंद करें।

कमलेशचंद्र कमेटी की रिपोर्ट के अनुसार ग्रेच्युटी पांच लाख और ग्रुप इंश्योरेंस पांच लाख करना आदि सहित अन्य मांगे सहित दस मांगों को पूरा करने की मांग उठाई। साथ ही चेतावनी दी कि यदि जल्द से जल्द मांग पूरी नहीं हुई तो जनपद के सारे डाकिया कार्य बहिष्कार कर हड़ताल शुरू कर देंगे

प्रदर्शन करते डाक कर्मी।
प्रदर्शन करते डाक कर्मी।
खबरें और भी हैं...