पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बडौत में नदी की 12 बीघा जमीन से हटाया कब्जा:राजस्व की टीम ने सीमांकन की खाई बंधवाई, विराेध कर रहे लोगों को पुलिस ने खदेड़ा

बडौत, बागपतएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नदी की जमीन को राजस्व की टीम ने कराया खाली। - Money Bhaskar
नदी की जमीन को राजस्व की टीम ने कराया खाली।

बडौत में राजस्व विभाग की टीम ने गलेहता के जंगल में पंहुचकर नदी की भूमि पर सीमांकन की खाई बंधवाई। इस जमीन पर पिछले एक दशक से विवाद चला आ रहा था। कुछ लोगों ने जमीन पर अवैध कब्जा कर रखा था। जिस कारण हमेशा विवाद की आंशका बनी रहती थी।

काम को रोकने की कोशिश

जिलाधिकारी के निर्देश पर राजस्वकर्मियों ने गलेहता के जंगल में करीब 12 बीघा नदी की भूमि माफिया के कब्जे से मुक्त कराई। लेखपाल सुरेश शर्मा, धर्मेंद्र, वीरेंद्र बैंसला समेत राजस्वकर्मियों की टीम ने गलेहता के जंगल में पहुंचकर दी की भूमि पर सीमांकन खाई बंधवाई। हालांकि इस दौरान कुछ लोगों ने टीम का विरोध किया। उनसे नोकझाेक करने लगे। काम को प्रभावित करने का भी प्रयास किया, लेकिन पुलिसकर्मियों ने उन्हें वहां से भाग दिया।

डीएम के आदेश पर कार्रवाई, विवाद की थी आशंका

कहा कि डीएम के आदेशों पर यह जमीन खाली कराई गई है। इस दौरान उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि दोबारा इस भूमि पर किसी ने कब्जा किया तो उसके विरुद्ध कठोर कानूनी करवाई की जाएगी। वहीं सूचना पर पहुंचे लोगों ने इसको लेकर खुशी जताई और जिला प्रशासन का आभार जताया। डीएम राजकमल यादव व एसडीएम सुभाष सिंह ने बताया कि पिछले एक दशक से जमीन पर अवैध कब्जा हो रखा था, जिस कारण विवाद की आशंका बनी रहती थी। फिलहाल राजस्व कर्मियों की टीम ने सर्वे कर जमीन को खाली करा दिया है।