पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बदायूं गंगा में 5 युवक डूबे, 2 की मौत:गोताखोरों ने 2 को सुरक्षित निकाला, एक लापता; अलग-अलग जगह हुए हादसे

बदायूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देवराज के शव को ले जाते मायूस परिजन। - Money Bhaskar
देवराज के शव को ले जाते मायूस परिजन।

बदायूं में सोमवार को गंगा स्नान के दौरान अलग स्थानों पर पांच लोग डूब गए। इनमें दो की मौत हो गई, जबकि दो को सुरक्षित निकाल लिया गया। वहीं एक युवक लापता है। पुलिस समेत गोताखोर उसकी तलाश में जुटे हैं। मरने वालों में एक युवक हाथरस का रहने वाला था। परिजन उसे कासगंज के सोरों स्थित सीएचसी ले गए और वहां मृत घोषित होने पर बिना पोस्टमार्टम के शव लेकर घर चले गए।

पहला हादसा उझानी कोतवाली इलाके के कछला गंगाघाट पर हुआ। हाथरस के थाना सिकंदराराऊ इलाके के हिम्मतपुर गांव का देवराज (20) परिवार के साथ गंगा स्नान को आया था। इसी दौरान देवराज डूबने लगा तो परिजनों ने शोर मचाया। गोताखोरों ने बमुश्किल उसे निकाला लेकिन तब तक वह बेहोश हो चुका था। सीएचसी सोरों में मृत घोषित होने के बाद परिजन शव घर ले गए।

इधर, मुजरिया थाना क्षेत्र के गांव फैजुल्लागंज का सोमवीर नहाते वक्त गंगा में डूबने लगा। उसे बचाने को साला राजीव यादव निवासी गांव खिरिया बाकरपुर भी गंगा में कूद गया। बचाने के लिए साड़ी डाली गई। इधर, सोमवीर तो साड़ी के सहारे निकल आया लेकिन राजीव डूबने लगा।

भतीजे को बचाने में गई जान
राजीव को डूबता देख उसके चाचा राकेश यादव भी गंगा में कूद पड़े। राकेश को काफी देर बाद बेहोशी की हालत में निकाल लिया गया, लेकिन राजीव का कोई पता नहीं लग सका। इधर, राकेश को उझानी सीएचसी लाया गया लेकिन यहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया।

रामगंगा में डूबकर किशोर की मौत
हजरतपुर थाना क्षेत्र में बह रहीं रामगंगा में दातागंज के बादामनगर मोहल्ले के बच्चे नहाने गए थे। नहाते वक्त नगरिया घाट पर अभय (12) पुत्र डोरीलाल गहरे पानी में डूब गया। उसे बमुश्किल तलाशकर निकाला गया लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। गनीमत रही कि साथ नहा रहे अभय, पंकज, पप्पू, नितेश, जतिन, आदेश, जतिन आदि बच निकले। परिजन भी मौके पर पहुंच गए और पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने शव कब्जे में ले लिया है।

अवैध बना है घाट
कोरोना काल में जब शासन ने गंगा स्नान पर प्रतिबंध लगाया तो श्रद्धालुओं ने टिकुरी नगला गांव के पास चोरी छिपे घाट बना लिया। प्रशासन के रिकार्ड में यह घाट रिकार्ड में दर्ज नहीं है। ऐसे में यहां सुरक्षा के इंतजाम भी न के बराबर रहते हैं। अन्य कई स्थानों पर भी अवैध घाट बने हुए हैं।

खबरें और भी हैं...