पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बदायूं में किसान ने कल आत्मदाह किया आज मौत:गेहूं की फसल जलने से परेशान था; SSP ऑफिस के गेट पर लगाई थी आग, 5 पुलिसकर्मी सस्पेंड

बदायूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

रसूलपुर गांव निवासी किसान किशनपाल गेहूं की फसल जलने के बाद सरकारी सिस्टम से परेशान थे। बदायूं SSP ऑफिस के गेट पर उन्होंने आत्मदाह किया था। पुलिसकर्मियों ने बमुश्किल आग पर काबू पाया। उन्हें झुलसी हुई हालत में बरेली के निजी मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था। लेकिन, उन्होंने गुरुवार सुबह दम तोड़ दिया। IG बरेली रेंज रमित शर्मा ने इस मामले की जांच के लिए SIT गठित की है। इसका नेतृत्व SP सिटी बरेली कर रहे हैं। ताकि मामले में जिस स्तर के पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों का दोष निकले, उनके खिलाफ कार्रवाई की जा सके। इस मामले में SHO समेत पांच पुलिसकर्मियों को बुधवार को ही सस्पेंड किया जा चुका है।

गेहूं की फसल जली, फिर एफआईआर भी किसान पर ही हुई

किसान की मौत के बाद पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे।
किसान की मौत के बाद पुलिस के अधिकारी भी मौके पर पहुंचे।

किसान किशनपाल के पास खुद की जमीन नहीं है। गांव के ही एक शख्स की जमीन पर वो खेती करता है। 23 अप्रैल को गेहूं काटने के बाद उसने खेत पर ही छोड़ दिया था। इसी दौरान उसमें आग लग गई थी। 24 अप्रैल को किसान ने गांव के ही रवींद्र और उसके परिजनों पर फसल में आग लगाने का आरोप लगाया था। इसके बाद रवींद्र समेत 6 से 7 लोगों ने किसान की पिटाई की थी। 25 अप्रैल को पुलिस ने रवींद्र समेत उसके पक्ष के रामौतार, ओमेंद्र, रामेंद्र, श्रीराम, विवेक, ओमवीर व देवेंद्र के खिलाफ मारपीट-बलवा का मुकदमा दर्ज किया था। जबकि, 26 अप्रैल को किसान समेत उसकी पत्नी व दोनों बेटों के खिलाफ भी एफआईआर दर्ज कर ली गई। 20 दिन भटकने के बाद भी उसकी सुनवाई नहीं हुई थी।

किसान को बचाने में सिपाही के हाथ झुलस गए
इसके बाद 18 मई को किसान ने बदायूं एसएसपी के ऑफिस पर पहुंचकर खुद को आग लगा ली। किसान को बचाने में एक सिपाही के हाथ भी झुलस गए। किसान को जिला अस्पताल ले जाया गया। जहां से उसको बरेली के निजी मेडिकल कॉलेज रेफर किया गया। इलाज मिलने के बावजूद उसको बचाया नहीं जा सका। डॉक्टरों के मुताबिक 90% तक बर्न होने के कारण किसान की हालत गंभीर बनी हुई थी।

7 आरोपियों को पुलिस ने रात में ही हिरासत में लिया
IG बरेली रेंज रमित शर्मा ने बताया कि इस मामले की जांच के लिए SIT गठित की गई है। इसका नेतृत्व SP सिटी बरेली करेंगे। वह IPS रैंक के अधिकारी हैं। सभी पहलुओं को खंगालते हुए आगे भी कार्रवाई होगी। इधर, अब पुलिस ने आठ में से सात आरोपियों को रात में ही हिरासत में ले लिया है।

खबरें और भी हैं...