पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिसौली में एंबुलेंस में गूंजी किलकारी:CHC ले जाते समय देर रात बेटे को दिया जन्म, प्रसव पीड़ा बढ़ने पर रोका गया था वाहन, जच्चा- बच्चा स्वस्थ

बिसौली, बदायूंएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
एंबुलेंस में बेटे के जन्म के बाद मौजूद परिजन। - Money Bhaskar
एंबुलेंस में बेटे के जन्म के बाद मौजूद परिजन।

उत्तर प्रदेश में योगी सरकार की एंबुलेंस सेवा 108 व 102 सही समय में पहुंचकर मरीज को अस्पताल तक पहुंचाने व जरूरत पर गाड़ी में ही उपचार करने में संजीवनी साबित हो रही है। गांव अतरपुरा से गर्भवती महिला को प्रसव के लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र आसफपुर ले कर जा रही एम्बुलेंस में गर्भवती महिला ने पुत्र को जन्म दिया। पुत्र जन्म के बाद अस्पताल पहुंची प्रसूता समेत बच्चें को डाक्टरों ने प्राथमिक उपचार दिया। जच्चा और बच्चा दोनों स्वस्थ्य बताए जा रहे हैं।

एंबुलेंस स्टाफ ने दिखाई सूझबूझ

गांव अतरपुरा निवासी फूलवती पत्नी पुष्पेन्द्र को अचानक प्रसव पीड़ा शुरू हो गई। जिसकी सूचना ग्राम पंचायत पर आशा बहू मंजू देवी को दी गई। इसके बाद पुष्पेन्द्र ने 108 को फोन करके एम्बुलेंस को बुलाया। पत्नी को एंबुलेंस से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद लाया जा रहा था। लेकिन रास्ते में फूलवती की प्रसव पीड़ा काफी तेज हो गई। जिस कारण रास्त में गाड़ी को रहा गया। एंबुलेंस स्टाफ ने सूझबूझ दिखाते हुए प्रसव कराया।

एंबुलेंस में बेटे काे महिला ने दिया जन्म।
एंबुलेंस में बेटे काे महिला ने दिया जन्म।

दोनों काे अस्पताल में कराया भर्ती

एम्बुलेंस में चालक खेमपाल सिंह और ईएमटी रत्नेश कुमार व आशा मंजू देवी की मदद से सुरक्षित प्रसव कराया गया। रात 2 बजे महिला ने पुत्र को जन्म दिया। पुत्र जन्म पर गाड़ी में मौजूद परिजन खुशी से फूले न समाए। पुत्र जन्म के बाद जच्चा--बच्चा को अस्पताल लाया गया, जहां दोनों के स्वास्थ्य का निरीक्षण कर प्राथमिक उपचार दिया गया। चिकित्कों ने मां-बेटे को स्वस्थ्य बताया है।