पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिल्सी...सुलझ नहीं पा रही अरुण की मौत की गुत्थी:अब जांच में सीडीआर का सहारा लेकर आगे बढ़ेगी पुलिस, मोबाइल एवं पर्स का गायब होना भी उठा रहा सवाल

बिल्सीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

गांव खंडवा निवासी अरुण की मौत की गुत्थी सुलझ नहीं पा रही है। परिजन हत्या की आशंका जता रहे हैं, वहीं पुलिस अभी तक यह तय नहीं कर पाई है की प्रकरण हत्या से जुड़ा है या फिर मार्ग दुर्घटना से।

गांव खंडवा निवासी किशनपाल का भतीजा अरुण 12 मई की शाम को बिसौली इस्लामनगर रोड पर गांव हेमपुर के समीप गंभीर हालत में मिला था। जिला अस्पताल पहुंचने से पहले ही उसकी मौत हो गई। अगले दिन शिनाख्त के बाद पुलिस ने शव का पीएम करा कर परिजनों को सौंप दिया था।

अगले दिन कुछ कॉल रिकॉर्डिंग की वजह से परिजनों को हत्या की आशंका हुई, तब पुलिस को कॉल रिकॉर्डिंग पेश की गई। लेकिन पीएम रिपोर्ट में एक्सीडेंट जैसे हालात आने के बाद पुलिस भी चक्कर में पड़ गई। इसकी वजह से अभी तक मुकदमा भी कायम नहीं हो सका है।

सीडीआर से खुलेगा राज

घटना की तह तक जाने के लिए पुलिस भी जुटी हुई है। प्रभारी निरीक्षक इस्लामनगर ऋषि पाल सिंह ने भी घटनास्थल के आसपास रहने वाले लोगों से बातचीत की है। इसके अलावा पुलिस अरुण के मोबाइल की सीडीआर भी निकलवा रही है। जिससे अरुण के संपर्क में आने वाले लोगों तक पुलिस पहुंच सके।

पर्स और मोबाइल गायब होने पर सवाल

परिजनों के मुताबिक मृतक की जेब में एक पर्स रहता था। उसमें जरूरतमंद डॉक्यूमेंट भी रहते थे। इसके अलावा उसके पास एक एंड्रॉयड फोन भी था। यह सब कुछ उसके पास से पुलिस को भी बरामद नहीं हुआ है। ऐसी स्थिति में सवाल उठता है, आखिरकार मृतक का पर्स एवं मोबाइल कहां गया। एसपी देहात सिद्धार्थ वर्मा ने भी इस्लामनगर पुलिस को गहनता से जांच कर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

खबरें और भी हैं...