पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बिल्सी... 24 घंटा बिजली सप्लाई का आदेश हुआ खत्म:अब बिजली संकट से फिर जूझ रहे बिल्सी के लोग, भाकियू एवं व्यापारी फिर उठाएंगे 24 घंटे बिजली की मांग

बिल्सीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

उघैती बिजली घर से पोषित इलाके में 28 अप्रैल की शाम से 15 मई तक बिजली घर को 24 घंटा सप्लाई देने का आदेश रविवार शाम को समाप्त होते ही बिजली का संकट फिर खड़ा हो गया है। 24 घंटे में महज चार से पांच घंटे की सप्लाई ही उपभोक्ताओं को मिल सकी है। जिसकी वजह से फिर जनाक्रोश सड़क पर उतर सकता है।

अप्रैल का महीना स्थानीय बिजलीघर से जुड़े सभी फीडर के उपभोक्ताओं को बहुत खराब रहा था। किसानों की फसल सूख गईं एवं घरेलू उपभोक्ता भीषण गर्मी में परेशान हो गए थे।

भाकियू ने धरना प्रदर्शन शुरू किया, तब पावर कारपोरेशन ने 28 अप्रैल से 15 मई तक 24 घंटे बिजली सप्लाई का आदेश जारी कर दिया था। 15 मई की रात के बाद यह आदेश स्वतः ही रद्द हो गया। जिसके बाद पहले दिन ही बिजली के संकट से लोग परेशान होते दिखे।

12 घंटे मिल रही थी सप्लाई

स्थानीय बिजली घर लंबे समय से ओवरलोडिंग की समस्या झेल रहा है। सभी फीडर को दो टुकड़ों में बांटने के बावजूद भी सप्लाई नहीं मिल पा रही थी। 24 घंटे बिजली सप्लाई के आदेश के बाद इन सभी फीडर को 12 घंटे की सप्लाई मिल रही थी।

भाकियू एवं व्यापारी फिर उठाएंगे मांग

भारतीय किसान यूनियन के नेता चौधरी सौदान सिंह, झांझन सिंह के अलावा मनोज पालीवाल, प्रधान पति बाबू ठाकुर, प्रमोद कुमार एडवोकेट, लोकेश सिंह ने फिर से 24 घंटा बिजली सप्लाई की मांग की है। इसके अलावा भाजपा नेता पुरुषोत्तम टाटा ने भी बिजली महकमे के अफसरों से 24 घंटे बिजली सप्लाई की अपील की है।

खबरें और भी हैं...