पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आजमगढ़ में महिलाओं ने दिया डूबते सूरज को अर्ध्य:भगवान भास्कर से की समृद्धि की कामना, तीन बजे से ही घाटों पर पहुंचने लगी थी महिलाएं

आजमगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
आजमगढ़ जिले में छठ की पूजा करती हुई महिलाएं। - Money Bhaskar
आजमगढ़ जिले में छठ की पूजा करती हुई महिलाएं।

आजमगढ़ जिले में छह महापर्व का व्रत रखी महिलाओं ने डूबते सूरज को अर्ध्य देकर अपने परिवार के सुख समृद्धि की कामना की। दोपहर से ही जिले में तमसा नदी के किनारे बने घाटों पर बड़ी संख्या में महिलाएं अपने परिजनों के साथ एकत्रित होने लगी थी। जिले में नगरीय क्षेत्र में 68 घाट आते हैं। जबकि पूरे जिले में 412 ऐसे स्थान हैं जहां छठ पूजा धूमधाम से हुई। छठ पूजन करने आई महिलाओं का कहना है कि छठ माता अपने भक्तों की हर मुराद पूरी करती हैं। यही कारण है कि बड़ी संख्या में भक्त अपनी मुराद लेकर आते हैं।

आजमगढ़ जिले में छठ महापर्व पर तमसा नदी के किनारे उमड़ा आस्था का जनसैलाब।
आजमगढ़ जिले में छठ महापर्व पर तमसा नदी के किनारे उमड़ा आस्था का जनसैलाब।

नगर-पालिका क्षेत्र के घाटों पर हुई पूजा
जिले में नगर पालिका क्षेत्र में 13 घाट आते हैं। इन घाटों पर बड़ी संख्या में व्रती महिलाओं ने पूजा-अर्चना की। सुरक्षा के लिए पुलिस प्रशासन ने महिला सिपाहियों को भी तैनात किया है, जिससे महिलाओं को किसी तरह की समस्या न हो। इसके साथ ही सिविल ड्रेस में भी पुलिस के जवान लगाए गए हैं।
तमसा नदी के किनारे इन घाटों एकलव्य घाट, महावीर घाट, कदमघाट, भोला घाट, गौरीशंकर घाट, दलालघाट, मोहटी घाट, पचपेडुवा घाट, नरौली घाट हरवंशपुर, गोदाम घाट, सरायमंदराज पर उपस्थित महिलाओं ने धूमधाम के साथ पूजन-अर्चन किया।

आजमगढ़ जिले में छठ की पूजा करने लेट-लेटकर घाट पर जा रही महिला भक्त।
आजमगढ़ जिले में छठ की पूजा करने लेट-लेटकर घाट पर जा रही महिला भक्त।

मनौती मांगते हैं भक्त
छठ महापर्व के लिए बड़ी संख्या में भक्त मनौती मांगते हैं, ऐसे में कई भक्त ऐसे भी घाटों पर आए जो लेटते-लेटते इन घाटों तक पहुंचे। यह व्रती मौन व्रत भी धारण किए थे। वहीं भक्तों का कहना है कि कई लोग इस तरह से मौन व्रत रहकर मुराद मांगते हैं।

खबरें और भी हैं...