पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मुख्यमंत्री योगी जैसा होना चाहिए अखिलेश जैसा नहीं: बंदना सिंह:सीपू सिंह हत्याकांड पर पूर्व विधायक की पत्नी बोलीं- आरोपियों के लिए फांसी की सजा चाहता था आजमगढ़

आजमगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ये तस्वीर सर्वेश सिंह सीपू की पत्नी बंदना सिंह की है।

आजमगढ़ जिले की सगड़ी विधानसभा से पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड में शामिल सात आरोपियों को जिले के गैंगेस्टर कोर्ट ने 17 मई को आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ ही घटना में शामिल आरोपियों पर 50-50 हजार का जुर्माना भी लगाया है। इस हत्याकांड में यूपी के टॉप टेन गैंगेस्टर ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह सहित सभी दोषियों को 10 मई को अदालत ने दोषी पाया और 17 मई को सजा सुनाई गई।

इस बारे में पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू की पत्नी सगड़ी से पूर्व विधायक बंदना सिंह का कहना है कि हम ही नहीं पूरा जिला चाहता था कि आरोपी को फांसी की सजा हो पर आजीवन कारावास की सजा से भी हम संतुष्ठ हैं अब पूरी उम्र जेल में ही सड़ेगा। पूर्व विधायक बंदना सिंह का कहना है कि मेरा ही नहीं कुंटू सिंह ने सगड़ी में कई परिवार को उजाड़ा है। कई लोग उसकी धमकियों से विवेश होकर अपने केस उठा लिए। यही कारण है कि उसे बल मिलता गया और मनोबल बढ़ता गया।

पति को समझता था रास्ते का कांटा
दैनिक भास्कर से बातचीत करते हुए पूर्व विधायक बंदना सिंह का कहना है कि मेरी पति की बढ़ती लोकप्रियता ही हत्या का कारण बनी। बंदना सिंह का कहना है कि मेरे पति क्षेत्र के लोकप्रिय विधायक थे, जनता बहुत पसंद करती थी। ब्लाक प्रमुख के चुनाव में हमारे ही गांव के दलित बस्ती के एक चाचा को चुनाव हम लोगों ने लड़वाया था और वह जीत गए।

कुंटू सिंह उनके पीछे पड़ गया था तो हम लोग चाचा को अपने घर पर रखते थे। ऐसे में कुंटू सिंह सोचता था कि सीपू सिंह की हत्या करवा देंगे तो रास्ते का कांटा साफ हो जाएगा। यही कारण है कि 19 जुलाई 2013 को हत्या करवा दी। बंदना सिंह का कहना है कि मेरे पति की हत्या सपा सरकार में हुई थी।

हम लोग अपना केस सीबीआई को देना चाहते थे, इसके लिए हमें अपने छह महीने के बच्चे को लेकर सड़क पर बैठना पड़ा। सुबह से लेकर शाम हो गई जब जाकर प्रशासन आया और हमारा केस सीबीआई ने लिया।

मुख्यमंत्री योगी जैसा होना चाहिए अखिलेश जैसा नहीं
पूर्व विधायक बंदना सिंह का कहना है कि प्रदेश में सपा की सरकार थी पर हमें कोई मदद नहीं मिली। जिले से नौ विधायक चुनाव जीते थे पर एक भी विधायक मेरे दरवाजे मेरा हाल चाल लेने नहीं आया। अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए बंदना सिंह ने कहा कि क्या अखिलेश यादव को यह नहीं सोचना चाहिए था कि अपने विधायक के दरवाजे पर जाया जाय।

पति की हत्या से पूरा जिला ही नहीं बल्कि पूर्वांचल दहल गया था। बंदना सिंह का कहना है कि प्रदेश में जब तक सपा की सरकार थी हम लोग केस तो फाइल कर दिए थे, पर बहुत निश्चिक्रियता से केस लड़ रहे थे। 2017 में महाराज जी की सरकार आने के बाद अपनी सुरक्षा को लेकर मुख्यमंत्री से मिलने गई।

हमने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने न्याय की गुहार लगाई और मुख्यमंत्री ने हमारी मदद की। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने ने तुरंत सुरक्षा बढ़ाई। बंदना सिंह का कहना है कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जैसा होना चाहिए अखिलेश यादव जैसा नहीं।

पति की मौत के बाद मन को किया मजबूत
पूर्व विधायक बंदना सिंह का कहना है कि पति की मौत के बाद एक बार लगा कि अब हम जीकर क्या करेंगे। पर मन को बहुत मजबूत करना पड़ा। हमारे तीन बच्चे हैं, उस समय एक बच्चा मात्र छह माह का था। अपने मन को अपने बच्चों के लिए मजबूत किया। मुझे ऐसा परिवार मिला जो हमें बहुत सपोर्ट किया। आज उसी के दम पर पर हम लड़ाई लड़ रहे हैं।

सात आरोपियों को आजीवन कारावास
पूर्व विधायक सर्वेश सिंह सीपू हत्याकांड के सात आरोपियों को जिले की गैंगेस्टर कोर्ट ने आजीवन कारावास और जुर्माने की सजा सुनाई है। इन आरोपियों में यूपी के टॉप टेन गैंगेस्टर ध्रुव कुमार सिंह उर्फ कुंटू सिंह, मृत्युंजय सिंह, दिनेश सिंह उर्फ रंपत, संग्राम सिंह, शिव प्रकाश सिंह उर्फ प्रकाश यादव, राजेन्द्र यादव, दुर्गविजय सिंह प्रमुख हैं।

इस मामले में विजय उर्फ सचिन यादव, अरविन्द कश्यप, विजय यादव, अभिषेक सिंह फरार हैं, जिन पर जिले के एसपी अनुराग आर्य ने 25 हजार का इनाम घोषित किया जिसे बाद में डीआईजी अखिलेश कुमार ने बढ़ाकर 50 हजार कर दिया। फरार दो आरोपियों की संपत्ति भी कुर्क की जा चुकी है।

आजमगढ़ जिले की सगड़ी विधानसभा से बसपा की पूर्व विधायक बंदना सिंह ने 24 नवंबर 2021 को भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।
आजमगढ़ जिले की सगड़ी विधानसभा से बसपा की पूर्व विधायक बंदना सिंह ने 24 नवंबर 2021 को भाजपा की सदस्यता ग्रहण की।

कौन हैं बंदना सिंह

सगड़ी विधानसभा से 1996 में विधायक चुने गए राम प्यारे सिंह की पुत्रवधू बंदना सिंह 2017 में सगड़ी विधानसभा सीट से पहली बार बसपा के सिंबल पर चुनाव जीती। इससे पूर्व 2007 के विधानसभा चुनाव में इसी सीट से बंदना सिंह के पति सर्वेश सिंह सीपू चुनाव जीते थे।

24 नवंबर 2021 को बंदना सिंह ने लखनऊ के प्रदेश मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के समक्ष भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। भाजपा ने 2022 के विधानसभा चुनाव में बंदना सिंह को टिकट भी दिया था पर इस बार बंदना सिंह चुनाव हार गई।

खबरें और भी हैं...